scorecardresearch

दस आतंकी लगातार बरसा रहे थे गोलियां, महीनों तक दहशत में थी पूरी मुंबई

26 नवंबर 2008 के दिन मुंबई में देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ था। इस दर्दनाक घटना में 26 विदेशी नागरिकों सहित 166 लोगों ने जान गंवाई थी। पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों के साथ सुरक्षा बलों ने करीब 60 घंटे तक मुठभेड़ की थी। इस आतंकी हमले ने सभी की रूह कंपा दी थी।

दस आतंकी लगातार बरसा रहे थे गोलियां, महीनों तक दहशत में थी पूरी मुंबई
26/11 Attack Anniversary LIVE: उस काली रात की दर्दनाक दास्तां। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

साल 2008 में 26 नवंबर की तारीख देश के इतिहास में आज भी काले अक्षरों में दर्ज है। इसी दिन देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ था, जिसने सभी की रुह कंपा दी थी। आज इस हमले को 11 साल पूरे हो गए हैं। पूरा देश मुंबई पर हुए 26/11 आतंकी हमले की 11वीं बरसी पर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है और उन शहीदों को नमन कर रहा है, जिन्होंने आतंकियों से लड़ते हुए अपनी जान गंवा दी। बता दें कि इस आतंकी हमले में 26 विदेशी नागरिकों सहित 166 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। सुरक्षा बलों ने पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों के साथ करीब 60 घंटे तक मुठभेड़ की थी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आतंकी पागलों की तरह हर तरफ गोलियां बरसा रहे थे। उससे पूरी मुंबई में दहशत का माहौल था।

समंदर के रास्ते मुंबई में घुसे थे आतंकी: बताया जाता है कि हमलावर कराची से समंदर के रास्ते मुंबई में घुसे थे। इस नाव में 4 भारतीय भी सवार थे, जिन्हें किनारे तक पहुंचने से पहले से जान से मार दिया गया था। 26 नवंबर को रात करीब 8 बजे सभी हमलावर कोलाबा के पास कफ परेड के मछली बाजार में निकले और 4 ग्रुप में बंट गए। इसके बाद सभी आतंकी टैक्सी लेकर दहशत फैलाने के लिए निकल गए।

Live Blog

13:18 (IST)26 Nov 2019
26/11 हमले पर ट्वीट कर सुरेश रैन ने दी श्रद्धांजलि


26/11 ने निर्दोष लोगों की जान ले ली क्योंकि इसने उन वीरों और शहीदों को जन्म दिया जो हमें अपनी वीरता से प्रेरित करते रहे। हमारी रक्षा के लिए अपनी जान देने वालों को मेरा सलाम। हम आपको हमेशा याद रखेंगे।

09:08 (IST)26 Nov 2019
सीएम देवेंद्र फडणवीस व गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने पुलिस मेमोरियल पर दी श्रद्धांजलि
08:36 (IST)26 Nov 2019
उप-राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने मुंबई हमलों के पीड़ितों को दी श्रद्धांजलि

आज मुंबई आतंकी हमलों की 11वीं बरसी है। इस दौरान आतंकी हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी जा रही है। ऐसे में उप-राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने हमले के पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी।

08:07 (IST)26 Nov 2019
जब शहीद हो गए हेमंत करकरे, विजय सालस्कर और अशोक काम्टे

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस पर मुंबई एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड के हेमंत करकरे, विजय सालस्कर और अशोक काम्टे ने कमान संभाल ली। ये तीनों अजमल कसाब और इस्माइल खान की तलाश में निकले थे। दोनो आतंकियों ने एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड की टीम को देखकर फायरिंग शुरू कर दी। दोनों तरफ से जोरदार फायरिंग हुई, जिसमें हेमंत करकरे, विजय सालस्कर और अशोक काम्टे शहीद हो गए।

07:23 (IST)26 Nov 2019
कामा अस्पताल था कसाब का अगला टारगेट

कसाब व इस्माइल करीब 22:45 बजे तक फायरिंग करते रहे। इसके बाद दोनों आतंकी कामा अस्पताल की तरफ बढ़ गए। उनका मकसद था मरीजों और अस्पताल के स्टाफ की हत्या करना, लेकिन मरीजों के वॉर्डों को पहले ही लॉक कर दिया गया।

07:22 (IST)26 Nov 2019
रेलवे अनाउंसर ने बचाई थी कई लोगों की जान

बताया जाता है कि एक रेलवे अनाउंसर ने घोषणा करके लोगों को स्टेशन से निकलने के लिए कहा, जिसके चलते कई लोगों की जान बचाई जा सकी। इस फायरिंग में आतंकियों ने 8 पुलिस अफसरों को मार गिराया।

06:54 (IST)26 Nov 2019
कसाब ने सीएसटी में की थी अंधाधुंध फायरिंग

इस्माइल खान और अजमल कसाब नाम के 2 आतंकियों ने सीएसटी यानि छत्रपति शिवाजी टर्मिनस को निशाना बनाया था। रात करीब 9:30 बजे ये दोनों आतंकी पैसेंजर हॉल से स्टेशन के अंदर घुसे और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। इस हमले में 58 लोग मारे गए, जबकि 104 घायल हो गए थे।

23:21 (IST)25 Nov 2019
आतंकियों ने बम से उड़ा दी थीं कई टैक्सी

रात 10:40 बजे विले पारले इलाके में एक टैक्सी को बम से उड़ाने की खबर मिली। इस घटना ड्राइवर और एक यात्री मारा गया था। वहीं, बोरीबंदर में भी इसी तरह के धमाके में एक टैक्सी ड्राइवर और 2 यात्रियों को मौत के घाट उतार दिया गया था। दोनों हमलों में करीब 15 लोग घायल हुए थे।

23:19 (IST)25 Nov 2019
लियोपोल्ड कैफे में 3 दिन तक चला था आतंक का खेल

दक्षिणी मुंबई के लियोपोल्ड कैफे में आतंकियों ने तीन दिन तक गोलीबारी जारी रखी थी। यह मुंबई के नामचीन रेस्त्रांओं में से एक है। यहां हुई गोलीबारी में मारे गए 10 लोगों में कई विदेशी भी शामिल थे। इसके अलावा काफी लोग घायल भी हो गए थे। बता दें कि 1871 से मेहमानों की खातिरदारी कर रहे लियोपोल्ड कैफे की दीवारों में आज भी इस हमले में चलाई गईं गोलियां धंसी हुई हैं।

23:13 (IST)25 Nov 2019
कसाब ने सीएसटी पर फैलाई थी दशहत

रात करीब 9:30 बजे मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस पर गोलीबारी की खबर मिली थी। मुंबई के इस ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन के मेन हॉल में दो हमलावर घुसे और उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। इनमें से एक आतंकी मुहम्मद अजमल कसाब था, जिसे अब फांसी दी जा चुकी है। दोनों आतंकियों के हाथों में एके-47 राइफलें थीं। उन्होंने महज 15 मिनट में 52 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और 109 को घायल कर दिया था।

23:11 (IST)25 Nov 2019
मुंबई आने के बाद 2-2 के ग्रुप में बंट गए थे आतंकी

मुंबई पहुंचने के बाद सभी आतंकी 2-2 के 5 ग्रुप में बंट गए थे। इनमें से 2 आतंकियों ने दक्षिणी मुंबई के कोलाबा स्थित लियोपोल्ड कैफे को निशाना बनाया। वहीं, अन्य आतंकियों ने नरीमन हाउस, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, होटल ट्राइडेंट ओबरॉय और ताज होटल को टारगेट किया था।

23:09 (IST)25 Nov 2019
स्थानीय पुलिस ने नहीं लिया था एक्शन

जानकारी के मुताबिक, लोकल मराठी बोलने वाले मछुआरों को इन लोगों की आपाधापी देखकर शक हुआ था। उन्होंने स्थानीय पुलिस को मामले की जानकारी भी दी थी, लेकिन पुलिस ने तवज्जो नहीं दी। न ही इस मामले की जानकारी अपने आला अधिकारियों या खुफिया एजेंसियों को दी।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 25-11-2019 at 11:06:53 pm
अपडेट