ताज़ा खबर
 

2 लाख से ज्यादा ट्रैक्टर परेड में लेंगे हिस्सा, जानिए 26 जनवरी पर क्या है किसानों का प्लान

दिल्ली एनसीआर में होने वाली ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए देशभर के किसान दिल्ली आ रहे हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने बताया है कि ट्रैक्टर परेड में पूरा देश आएगा और दिल्ली के लोग किसानों पर फूलों की वर्षा करेंगे।

tractor parade , india , 26 january26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर परेड की तैयारियों में जुटे किसान (फोटो – PTI)

किसान नेताओं ने दावा किया है कि 26 जनवरी के अवसर पर होने वाले ट्रैक्टर परेड में दो लाख से अधिक से ट्रैक्टर भाग लेंगे. यह परेड दिल्ली के करीब पांच मार्गों पर निकाली जाएगी। साथ ही किसान नेताओं ने यह भी दावा किया है कि परेड के दौरान किसान ट्रैक्टरों से 100 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेंगे जिसमें से 70 से 80 प्रतिशत मार्ग दिल्ली में होंगे और बाकी मार्ग अन्य इलाकों में होंगे। किसान नेताओं ने यह भी बताया है कि परेड का रूट लगभग तय ही कर लिया गया है। 26 जनवरी पर होने वाले ट्रैक्टर परेड के लिए किसानों ने बड़ा प्लान तय कर रखा है। 

दिल्ली एनसीआर में होने वाली ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए देशभर के किसान दिल्ली आ रहे हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने बताया है कि ट्रैक्टर परेड में पूरा देश आएगा और दिल्ली के लोग किसानों पर फूलों की वर्षा करेंगे। राकेश टिकैत ने यह भी कहा है कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दिन उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के किसान लगभग 25 हजार ट्रैक्टर के साथ दिल्ली की सड़कों पर उतरेंगे।  हालाँकि इस ट्रैक्टर रैली में राजनीतिक पार्टियों को आने की इजाज़त नहीं होगी।  

वहीँ किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि ट्रैक्टर परेड करीब 100 किलोमीटर चलेगी। परेड में जितना समय लगेगा, वो हमें दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह परेड ऐतिहासिक होगी जिसे दुनिया देखेगी। स्वराज इंडिया के नेता योगेंद्र यादव ने बताया था कि 26 जनवरी को सारे बैरिकेड हट जाएंगे और किसान दिल्ली में प्रवेश करेंगे। ट्रैक्टर परेड के रूट को लेकर पुलिस और किसानों में सहमति बन गई है। योगेन्द्र यादव ने यह भी कहा था कि ट्रैक्टर परेड शांतिपूर्ण और ऐतिहासिक होगी।

सिंघू बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड का मार्ग गांधी नगर, ट्रांसपोर्ट नगर  कंझावाल और बवाना इलाकों से होते हुए वापस हरियाणा की तरफ होगा। वहीँ टीकरी बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड शुरू होकर नांगलोई, नजफगढ़, बादली, और कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे होते हुए वापस प्रदर्शन स्थल की तरफ चली जाएगी। इसके अलावा यूपी गेट से आनंद विहार फिर डासना उसके बाद ट्रैक्टर परेड केएमपी एक्सप्रेस वे पर जाएगा। वहीं दिल्ली पुलिस ने कहा है कि किसानों को सेंट्रल दिल्ली में ट्रैक्टर परेड की इजाज़त नहीं है। किसान गणतंत्र दिवस परेड के बाद ही अपनी ट्रैक्टर परेड निकाल सकेंगे।

हालाँकि पंजाब किसान संघर्ष समिति के नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि हर हाल में ट्रैक्टर परेड दिल्ली के बाहरी रिंग रोड पर ही होगी। किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने यह भी कहा है कि ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए अनेकों किसान दिल्ली आ रहे हैं। इसलिए हम ट्रैक्टर परेड दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ही निकालेंगे चाहे दिल्ली पुलिस की अनुमति ना ही मिले।

Next Stories
1 कृषि कानूनों की आंच मुंबई तक! 21 जिलों के हजारों किसानों का मार्च; विदर्भ से विधवाएं भी डटीं दिल्ली के बॉर्डर्स पर
2 गजराज पर जुल्म का एक और वीडियो वायरल, पैरों में जंजीर बांध टॉर्चर कर रहे
3 कोरोना के बाद हालात ठीक हुए फिर भी 50% युवाओं को वापस ना मिली नौकरी- CMIE के सर्वे में बड़ा खुलासा
ये पढ़ा क्या?
X