ताज़ा खबर
 

दिल्ली में 24 घंटे में 24 हजार मामले, 167 मरीजों की मौत, राजधानी में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 69799 हुई

सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि हालात चिंताजनक, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की भारी कमी है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में संक्रमण की दर 24 फीसद से अधिक है।

arvind kejriwal, haryana, farmersदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फोटो – एएनआई)

दिल्ली में शनिवार को 24 घंटे में 24375 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना संक्रमण की दर 24 फीसद का आंकड़ा पार कर गया है। इस बीमारी की वजह से 167 मरीजों की मौत हुई है। शनिवार की कोरोना संक्रमण दर 24.56 फीसद रही है, जो कि अब तक की सर्वाधिक संक्रमण दर है।

दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक अब दिल्ली के अंदर सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 69799 हो गई है और 32156 मरीजों का इलाज घर में एकांतवास में किया जा रहा है। शनिवार को दिल्ली में 90230 संक्रमण जांच की गई थी। इस दौरान 15414 मरीज ठीक होकर अपने घर भी गए है। दिल्ली में जहां भी नए मामले सामने आ रहे हैं। दिल्ली सरकार उन क्षेत्रों को सील क्षेत्र में बदल रही है। अब दिल्ली में सील क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 11235 हो गई है।

दिल्ली में इस समय 12699 मरीज अस्पताल, कोविड केयर सेंटर में 491 और 78 मरीजों का इलाज कोविड केयर सेंटर में किया जा रहा है। दिल्ली में अब तक कुल 16142390 कोरोना संक्रमण जांच की गई है, इसमें बीते 24 घंटे में 69206 आरटी पीसीआर और 30024 एंटीजन जांच की गई हैं। इसी दौरान 48046 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। 32585 लोगों ने पहली बार और 15461 लोगों ने दूसरी बार कोरोना संक्रमण से बचाव का टीका लगाया है। अब तक कुल 2498470 लोगों को टीका लगाया है।

दिल्ली में अब तक कोरोना संक्रमण से 827998 लोगों को संक्र मण हो चुका है। इन मरीजों में से 746239 मरीज ठीक हुए हैं और यह बीमारी अब तक कुल 11960 मरीजों की जान ले चुकी है। दिल्ली में अब तक की कोरोना संक्रमण की कुल दर 5.13 और मृत्युदर 1.44 फीसद रही है।

ऑक्सीजन और रेमडिसिवर की भारी कमी : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्ली में कोरोना के हालात चिंताजनक हैं और दिल्ली सरकार इस स्थिति से निपटने के लिए दिन रात मेहनत कर रही है। मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 24 हजार नए मामले आए हैं और इस प्रकार संक्रमण की दर 24 फीसद से अधिक है। इस समय स्थिति काफी गंभीर और चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन, रेमडेसिविर और पॉसिलिजमॉब की बड़ी कमी होने लगी है।

कुछ दिन पहले दिल्ली सरकार का आकलन था कि यह सारी चीजें उचित मात्रा में मौजूद हैं, लेकिन आज ऑक्सीजन, रेमडेसिविर और पॉसिलिजमॉब, इन तीनों की कमी नजर आई। आइसीयू के बिस्तर सीमित हैं। जिस तेजी के साथ कोरोना बढ़ रहा है, उससे ऑक्सीजन और आइसीयू के बिस्तर बहुत तेजी के साथ भरते जा रहे हैं। इसे देखते हुए जमाखोरी और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं। दिल्ली वालों को पर्याप्त संख्या में बिस्तर उपलब्ध कराने के लिए तैयारी पूरी हो गई है।

Next Stories
1 कोरोना हुआ भयावह: शनिवार को 2.60 लाख नए मामले, 1,470 लोगों की हुई मौत
2 केंद्र की बदइंतजामी आई सामने: कांग्रेस; पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सुझावों को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को भेजेंगे पत्र
3 इस साल अंबानी परिवार के सामने आईं एक के बाद एक दिक्कतें, अनिल के बेटे ने सोशल मीडिया पर खड़ा किया था विवाद
यह पढ़ा क्या?
X