ताज़ा खबर
 

‘मेरी जिंदगी तो बर्बाद कर दी… मालिश करवाना तो यह भूल ही जाएगा’, चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा ने बताई आपबीती

काम बढ़ने पर लेट होने के कारण मुझे कॉलेज हॉस्टल में रहने की सलाह दी गई। पिछले साल अक्टूबर में हॉस्टल में मेरे नहाने के दौरान पहला वीडियो बना लिया गया। इसके बाद मुझे चिन्मयानंद के घर जाने के लिए मजबूर किया गया।

Author शाहजहांपुर | Updated: September 15, 2019 8:19 AM
पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद भारतीय जनता पार्टी के सदस्य नहीं हैं। (फाइल फोटो)

स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली कानून की 23 वर्षीय छात्रा ने अपनी आपबीती सुनाई। छात्रा ने कहा कि चिन्मयानंद पिछले एक साल से उसका शारीरिक शोषण कर रहे थे। छात्रा के पास भाजपा के सांसद को दोषी ठहराने वाले कम से कम 35 वीडियो हैं। संडे एक्सप्रेस से बातचीत में लड़की ने कहा कि यही वह वीडियो हैं जिससे उसे न्याय मिलने की आस है।

छात्रा ने कहा कि पूरे कॉलेज को पता था कि मुझे चिन्मयानंद के आवास पर ले जाया जाता है। किसी की भी मुझसे बात करने की हिम्मत नहीं होती थी। छात्रा ने कहा, ‘इसने मेरी जिंदगी तो बर्बाद कर दी लेकिन मेरी वजह से किसी और लड़के-लड़की की जिंदगी बर्बाद नहीं होगी… मालिश तो यह करवाना भूल जाएगा।’

आरोप लगाने वाली छात्रा ने कहा कि जब भी उसे कॉलेज कैंपस स्थित चिन्मयानंद के आवास पर मसाज देने के लिए बुलाया जाता था तो वह छिपे कैमरे वाला चश्मा पहन लेती थी। छात्रा जिस कॉलेज से लॉ में मास्टर्स के सेकेंड इयर में पढ़ रही है, चिन्मयानंद उस कॉलेज के चेयरमैन हैं।

छात्रा ने बताया कि इंटरनेट पर कई तरह के हिडन कैमरा देखने के बाद उसने ऑनलाइन चश्मे वाला हिडन कैमरा मंगाया। उसने बताया कि मुझे मोबाइल फोन ले जाने की इजाजत नहीं थी। ऐसे में उसने सोचा कि यदि उसने चश्मा पहना तो कोई भी उस पर शक नहीं करेगा। हाल ही में पीड़ित छात्रा ने दावा किया था कि उसके हॉस्टल रूम में रखे वॉलेट से उसका चश्मा चोरी हो गया। उसके पिता ने शनिवार को कहा कि उसने सबूतों को किसी अन्य जगह पर सुरक्षित रख दिया है। उसने 30 से अधिक वीडियो क्लिप पुलिस को सौंप दी है।

23 वर्षीय छात्रा ने कहा कि चिन्मयानंद और उसके आदमी हमेशा उस पर नजर रखते थे। इतना ही नहीं उसे किसी भी अन्य छात्रों के साथ घुलने मिलने नहीं दिया जाता था। पीड़ित छात्रा के अलावा अंडरग्रेजुएट लॉ स्टूडेंट और पुरुष टीचर्स को भी नियमित रूप से पूर्व सांसद के घर मालिश करने के लिए बुलाया जाता था। संडे एक्सप्रेस से बातचीत में छात्रा ने बताया कि एलएलबी करने के समय साल 2018 तक वह चिन्मयानंद को नहीं जानती थी। छात्रा ने कहा, ‘इसके बाद मैंने एलएलएम में नाम लिखाने का निर्णय किया।

फीस भुगतान करने की समय सीमा खत्म होने के बाद प्रिंसिपल ने मुझसे कहा कि मुझे चिन्मयानंद से मिलना चाहिए, वह ही मेरी कुछ मदद कर सकते हैं।’ उसने बताया कि उसे पूरा यकीन था कि वह अपनी सीट निश्चित कर लेगी लेकिनि साथ ही उसके पास कॉलेज लाइब्रेरी में काम करने का फोन आने लगे। छात्रा ने बताया कि मैंने शुरुआत में इनकार किया लेकिन मुझसे कहा गया कि यह मेरे साथ ही कॉलेज के लिए भी ठीक होगा। बाद में काम बढ़ने पर लेट होने के कारण मुझे कॉलेज हॉस्टल में रहने की सलाह दी गई।

इसके बाद मुझे पता नहीं लगा और पिछले साल अक्टूबर में हॉस्टल में मेरे नहाने के दौरान पहला वीडियो बना लिया गया। इसके बाद मुझे चिन्मयानंद के आवास पर जाने के लिए मजबूर किया गया। इसके बाद वहां मेरा रेप हुआ और मेरा एक और वीडियो बना लिया गया। इस वीडियो के जरिये मुझे ब्लैकमेल कर करीब एक साल तक यौन शोषण किया गया। इसके बाद मैंने सोच लिया कि बस अब नहीं। छात्रा ने कहा कि उसे पता है कि उसकी लड़ाई लंबी चलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘कभी खुशी कभी गम होता है’, अर्थव्यवस्था के बिगड़े हालात पर नितिन गडकरी की राय
2 National Hindi News 15 September 2019 LIVE Updates: सिद्धरमैया ने बाढ़ राहत को लेकर केंद्र, कर्नाटक सरकार को घेरा, बी एस येदियुरप्पा को बताया सबसे कमजोर मुख्यमंत्री
3 Chandrayaan 2: ‘समस्याएं, अप्रत्याशित घटनाएं देती हैं अनुसंधान को धार’, चंद्रयान-2 पर बोले वैज्ञानिक