ताज़ा खबर
 

215 गैलेंट्री अवार्ड्स में से 40 फीसदी पर सिर्फ जम्मू-कश्मीर के जवानों का कब्जा, 55 सीआरपीएफ के खाते में, कमांडेट को 4 साल में सातवां

गैलेंटरी अवॉर्ड्स की लिस्ट में जम्मू-कश्मीर पुलिस पहले स्थान पर आई है और दूसरे स्थान पर सीआरपीएफ ने कब्जा जमाया है। वहीं तीसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश की पुलिस का नाम है।

jammu and kashmir police, gallantry medals, article 370, independence day,40 फीसदी गैलेंट्री अवार्ड्स पर जम्मू-कश्मीर पुलिस का कब्जा। (Representational)

अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के एक साल बाद, जम्मू और कश्मीर पुलिस के अधिकारी और कर्मियों को इस स्वतंत्रता दिवस पर गैलेंट्री अवॉर्ड्स यानी देश के वीरता पुरस्कारों से नवाजा जाएगा। जम्मू और कश्मीर पुलिस के 81 अधिकारियों और कर्मियों को इस सम्मान से नवाजा जाएगा।

गैलेंटरी अवॉर्ड्स की लिस्ट में जम्मू-कश्मीर पुलिस पहले स्थान पर आई है और दूसरे स्थान पर सीआरपीएफ ने कब्जा जमाया है। वहीं तीसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश की पुलिस का नाम है। इस वर्ष, 215 गैलेंट्री अवार्ड्स में से 40 फीसदी पर सिर्फ जम्मू-कश्मीर के जवानों का कब्जा है। वहीं आतंकवाद विरोधी अभियानों, छत्तीसगढ़ और झारखंड में माओवाद विरोधी अभियानों में भाग लेने के लिए 55 पदक के साथ सीआरपीएफ दूसरे नंबर पर है। इनमें से 41 पदक कश्मीर में किए गए अभियानों के लिए मिले हैं। तीसरा स्थान हासिल करने वाली उत्तर प्रदेश की पुलिस को 23 मेडल हाथ लगे हैं।

दोनों सेनाओं ने जम्मू-कश्मीर में संचालन के लिए 123 वीरता पदक प्राप्त किए हैं। CAPFs का CISF एकमात्र बल है जिसे शौर्य चक्रों से नवाजा गया है। सीआईएसएफ के चार कर्मियों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। उप-निरीक्षक महावीर प्रसाद गोदारा, हेड कांस्टेबल एरना नायक, कांस्टेबलों महेंद्र पासवान और सतीश कुशवाहा को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया।

गोदारा ने पिछले साल छह मार्च को सर्वोच्च बलिदान दिया था, जब वह दिल्ली में सीजीओ कॉम्प्लेक्स के पं. दीन दयाल अंत्योदय भवन में स्थित सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की पांचवीं मंजिल पर स्थित कार्यालय में आग लगने के बाद वहां से लोगों को निकाल रहे थे। अन्य तीन की ओएनजीसी मुंबई संयंत्र में विस्फोट के दौरान मृत्यु हो गई थी।

एनआईए के दो आईपीएस अधिकारी, डीआईजी विधी कुमार बर्डी और एसपी तेजिंदर सिंह, जिन्हें पीएमजी से सम्मानित किया गया है, वे भी जम्मू-कश्मीर से हैं। जबकि बर्डी ने नॉर्थ कश्मीर रेंज के डीआईजी के रूप में कई आतंकवाद विरोधी अभियानों को संभाला है, सिंह एनआईए में शामिल होने से पहले पुलवामा और बडगाम के एसपी थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बेपटरी हुआ नगा समझौता? मोदी सरकार से डील के पांच साल बाद फिर नागालैंड में उठी अलग झंडे और संविधान की मांग
2 COVID-19 Vaccine पर कंपनियों ने NEG को दी ब्रीफिंग, जानें 170 टीमें किस रफ्तार से ढूंढ रही हैं टीका
3 India Independence Day 2020 HIGHLIGHTS: कोरोना महामारी के चलते देश में सादगी से मना स्वतंत्रता दिवस समारोह
ये पढ़ा क्या?
X