ताज़ा खबर
 

IRCTC: त्योहारों के इस सीजन 2000 स्पेशल ट्रेनें चलाएगा रेलवे

Indian Railways, IRCTC Train Ticket Booking: आगामी त्योहारों को देखते हुए भारतीय रेल ने करीब 2000 स्पेशन ट्रेन चलाने की तैयारी कर रही है। ये ट्रेनें सितंबर से नवंबर माह के बीच चलेगी।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः रेल मंत्रालय)

दशहरा, दीवाली और छठ पूजा त्योहार में यात्रियों की होने वाली संभावित भीड़ को देखते हुए भारतीय रेलवे अभी से ही तैयारी में जुट गया है। फेस्टिव सीजन को लेकर रेलवे विभिन्न रूटों पर स्पेशल ट्रेन चलाएगा। भारतीय रेल सितंबर से नवंबर माह के बीच करीब 2000 स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी कर रही है। करीब 600 ट्रेनें सितंबर माह में चलेगी। 1000 ट्रेनें अक्टूबर में और करीब 500 ट्रेनें नवंबर माह में चलायी जाएगी। इनमें करीब 1180 ट्रेनें उत्तरी रेलवे में जोड़ी जाएगी। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले साल 2094 विशेष ट्रेनें इस अवधि के दौरान चल रही थीं। बता दें कि हर साल रेलवे लोकप्रिय मार्गों पर विशेष ट्रेन चलाती है और मौजूदा ट्रेनों में अतिरिक्त कोच भी जोड़े जाते हैं।

यात्रा बाजार रेलयात्री द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के मुताबिक, 10 लाख से ज्यादा यात्रियों को प्रतिदिन कंफर्म टिकट नहीं मिल पा रहा है। त्योहार के मौसम के दौरान यह संख्या बढ़ जाती है। रेलयात्री द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, सिर्फ अक्टूबर और नवंबर के महीनों में करीब 40% रेल यात्री बढ़ जाते हैं। ऐसे समय में ट्रेन में कंफर्म सीट मिलना मुश्किल हो जाता है। महीनों पहले से ही सारी सीटें बुक हो जाती है। तत्काल टिकट कुछ ही लोगों को मिल पाता है। लोग वेटिंग टिकट लेकर सफर करने को मजबूर होते हैं।

 

गौर हो कि सितंबर से नवंबर माह के बीच कई सारे त्योहार मनाए जाते हैं। इनमें दशहरा, दिवाली और छठ महत्वपूर्ण है। बंगाल, बिहार, ओडिशा, गुजरात, जम्मू, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के अनेक शहरों से आने-जाने वाले यात्रियों की संख्या कई गुना बढ़ जाती है। इन त्योहारों को लेकर 120 दिन पहले ही जैसे ही टिकट बुकिंग शुरू होती है, सारे बर्थ बुक हो जाते हैं। तत्काल टिकट मुश्किल से ही मिल पाता है। बहुत सारे यात्री तो ट्रेन न मिलने की वजह से त्यौहार के दौरान अपने घर ही नहीं जा पाते। वहीं बहुत सारे लोग कई-कई महीने पहले से ही रिजर्वेशन करा लेते हैं। जिन्हें त्योहार में घर जाना जरूरी होता है, वैसे यात्री किसी तरह सफर करने को मजबूर होते हैं। जनरल कोच की बात कौन करे, स्लीपर और एसी बोगियों तक में लोग भर जाते हैं। पैर रखने की जगह नहीं मिलती। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए रेलवे ने स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है ताकि यात्रियों को परेशानी न हो। इसके साथ ही यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए भी विशेष कदम उठाने की तैयारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App