ताज़ा खबर
 

भेदभाव से परेशान होकर 2000 दलित नए साल पर करेंगे इस्लाम कबूल, आरोप मकान मालिकों ने लंबी दीवार खड़ा कर बनाई दूरी

पार्टी सूत्रों ने बताया कि कि 2,000 से ज्यादा दलितों ने इस्लाम स्वीकार लेने की इच्छा जाहिर की है। इन लोगों में से कई दीवार गिरने की घटना में मारे गए लोगों के परिजन हैं।

Author कोयंबटूर | Published on: December 26, 2019 10:09 AM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

तमिलनाडु के कोयंबटूर के एक गांव में कुछ दलितों ने इस्लाम कूबूल लेने की बात सामने आ रही है। बता दें कि नादुर गांव में दलित समुदाय के कुछ लोगों ने भेदभाव का आरोप लगाते हुए इस्लाम स्वीकार कर लेने की बात कही है। इनमें कई लोग उन परिवारों से हैं जिनके 17 सदस्यों की हाल ही में एक दीवार गिरने की वजह से मौत हो गई थी। दलितों ने कहा है कि वे पांच जनवरी को इस्लाम स्वीकार कर लेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि वे तमिल पुलिगल काची (टीपीके) के सदस्य हैं। टीपीके के सूत्रों ने बताया कि मुस्लिम धर्म स्वीकार करने का निर्णय मेट्टुपलायम में पार्टी की एक बैठक में लिया गया है।

एससी/एसटी के तहत कार्रवाई नहीं होने पर कबूलेंगे इस्लामः पार्टी सूत्रों ने बताया कि कि 2,000 से ज्यादा दलितों ने इस्लाम स्वीकार लेने की इच्छा जाहिर की है। इन लोगों में से कई दीवार गिरने की घटना में मारे गए लोगों के परिजन हैं। बता दें कि यह निर्णय मकान मालिक के खिलाफ एससी/एसटी (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम के तहत कथित तौर पर कार्रवाई नहीं होने के बाद लिया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस और अन्य प्रशासन उनके साथ भेदभाव कर रहा है।

Hindi News Today, 26 December 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

दलितों को दूर रखने के लिए मकान मालिक ने खड़ा किया दीवारः पार्टी ने बताया कि इसका निर्माण मकान मालिक ने कराया था और इस दीवार को सहारा देने के लिए कोई खंभा भी नहीं था। पार्टी का यह भी आरोप है कि इस दीवार का निर्माण दलितों को अपने घर से दूर रखने के इरादे से किया गया था। बता दें कि हाल ही में नादुर गांव में दीवार गिरने की घटना में 17 लोगों की मौत हो गई थी।

पुलिस पर लगाया आरोपः टीपीके के सदस्यों ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस से इसकी शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई। उनलोगों ने यह भी बताया कि मकान मालिक और पुलिस द्वारा भेदभाव करने से उन लोगों ने यह कदम उठाने का फैसला किया है। वहीं इस पूरे मामले में पुलिस द्वारा कोई बयान अभी सामने नहीं आया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बोले इरफान हबीब- अंग्रेजों के जमाने से भी ज्यादा बर्बरता दिखा रही पुलिस, धर्म के नाम पर उन्माद भड़का शासन कर रही यह सरकार
2 Lokniti-CSDS Post-poll Survey: झारखंड में मोदी सरकार से पूरी तरह असंतुष्ट वोटर्स 5 साल में ढाई गुना बढ़े
3 पश्चिम बंगाल में NRC पर पलटी BJP, प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने दिया ये बयान
ये पढ़ा क्या?
X