ताज़ा खबर
 

भारत में पिछले 5 सालों से ‘सुपर इमरजेंसी’ के हालात, ममता बनर्जी ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

अपने ट्वीट में ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। ममता बनर्जी ने मौजूदा वक्त में देश में 'सुपर इमरजेंसी' के हालात बताए हैं।

Author नई दिल्ली | June 25, 2019 2:09 PM
ममता बनर्जी ने ट्वीट कर साधा निशाना। (express photo)

देश आज, साल 1975 में लागू हुई इमरजेंसी के समय को याद कर रहा है। 25 जून, 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लागू कर दिया था, जो कि 21 महीने तक लागू रहा था। मार्च, 1977 में आपातकाल खत्म हुआ था। इस मौके पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है, लेकिन अपने इस ट्वीट में ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को निशाने पर ले लिया है। ममता बनर्जी ने मौजूदा वक्त में देश में ‘सुपर इमरजेंसी’ के हालात बताए हैं। ममता बनर्जी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा है कि “आज 1975 में घोषित हुई इमरजेंसी की वर्षगांठ है। बीते पांच सालों से देश में ‘सुपर इमरजेंसी’ के हालात हैं। हमें इतिहास से सबक लेते हुए देश की लोकतांत्रिक संस्थाओं को बचाने के लिए लड़ना होगा।”

बता दें कि पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। दोनों ही पार्टियां एक-दूसरे पर हिंसा भड़काने का आरोप लगा रही हैं। हालिया लोकसभा चुनावों में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 पर कब्जा कर लिया था। ममता बनर्जी के इस ट्वीट पर भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पलटवार किया है। जावड़ेकर ने कहा है कि “जिस तरह से ममता, शासन कर रही हैं, वह भी इमरजेंसी से कम नहीं है और वह गलत तरीके से सरकार चला रही हैं। यहां काफी हिंसा हो रही है। भाजपा और इसकी सरकार लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए समर्पित हैं। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास।”

उल्लेखनीय है कि बंगाल में पिछले काफी समय से हिंसा का दौर चल रहा है। बीते गुरुवार को ही पश्चिम बंगाल के भाटपारा इलाके में हुई हिंसा में 2 लोगों की हत्या कर दी गई थी और 3 लोग घायल हुए थे। भाजपा सांसद अर्जुन सिंह का आरोप है कि ‘हिंसा के पीछे टीएमसी और पुलिस का हाथ है।’ ममता बनर्जी ने भी पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भी शिरकत नहीं की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App