ताज़ा खबर
 

उत्‍तराखंड में फंसे 1800 लोगों को बसें भेज कर गुजरात लाएगी रूपाणी सरकार, उत्‍तराखंड सरकार पर लग चुके हैं लॉकडाउन उल्‍लंघन के आरोप

बता दें कि लॉकडाउन के चलते पूरे देश में लोग अलग-अलग जगहों पर फंस गए थे। हजारों की संख्‍या में प्रवासी मजदूर पैदल ही अलग-अलग शहरों से सैकड़ों क‍िलोमीटर दूर अपने-अपने गांवों के ल‍िए रवाना हो गए थे। इससे केंद्र व कई राज्‍य सरकारों की काफी आलोचना भी हुई थी।

उत्तराखंड परिवहन निगम के दस्तावेजों में बसों के हरिद्वार से गुजरात भेजे जाने की एंट्री भी है। (फोटो- दैनिक भास्कर)

उत्‍तराखंड में फंसे गुजरात के 1800 लोगों को राज्‍य में लाने के ल‍िए गुजरात सरकार 28 बसों का इंतजाम कर रही है। गुजरात के मुख्‍यमंत्री व‍िजय रूपाणी के सेक्रेटरी अश्‍व‍िनी कुमार ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया क‍ि इनके ल‍िए गुजरात सरकार बसों का इंतजाम कर रही है। ये लोग लॉकडाउन की वजह से उत्‍तराखंड के हर‍िद्वार में फंसे हुए हैं।

कुमार के मुताब‍िक ये लोग शन‍िवार रात तक अहमदाबाद पहुंच जाएंगे। वहां से स्‍वास्‍थ्‍य चेक‍िंंग के बाद उन्‍हें अपने-अपने ज‍िले में भेजा जाएगा।बता दें क‍ि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरे के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को देशभर में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था।

आदेश के मुताबिक 24 तारीख की रात 12 बजे से भारतीय रेलवे समेत राज्य सरकारों की सभी परिवहन सेवाएं रोक दी गई थीं, ताकि लोगों को उनके घरों पर ही रोका जा सके। इसी वजह से गुजरात के 1800 लोग उत्‍तराखंड में फंस गए हैं। इस बीच, मीड‍िया में एक दस्‍तावेज सामने आया है। दैन‍िक भास्‍कर ने इस दस्‍तावेज के आधार पर एक र‍िपोर्ट प्रकाश‍ित की है।

इसी आदेश के चलते उत्तराखंड सरकार पर लॉकडाउन उल्लंघन का आरोप लग रहा है। (फोटो क्रेडिट-दैनिक भास्कर)

दस्‍तावेज में 27 मार्च, 2020 की तारीख दी गई है। इससे संकेत म‍िलता है क‍ि उत्‍तराखंड राज्‍य पर‍िवहन न‍िगम की बसें लोगों को लेकर गुजरात भेजी गईं। दस्‍तावेज से यह भी मालूम पड़ता है कि उत्तराखंड परिवहन की ये गाड़ियां उत्‍‍‍‍तराखंड के मुख्यमंत्री और पर‍िवहन सच‍ि‍व के निर्देशों पर भेजी गईं।


Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

बता दें कि लॉकडाउन के चलते पूरे देश में लोग अलग-अलग जगहों पर फंस गए थे। हजारों की संख्‍या में प्रवासी मजदूर पैदल ही अलग-अलग शहरों से सैकड़ों क‍िलोमीटर दूर अपने-अपने गांवों के ल‍िए रवाना हो गए थे। इससे केंद्र व कई राज्‍य सरकारों की काफी आलोचना भी हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच अपने परिवारों के साथ रामनवमी मनाने मंदिर पहुंचे तेलंगाना के दो कैबिनेट मंत्री
2 Delhi Violence: हिंसा की साजिश के आरोप में जामिया यूनिवर्सिटी का छात्र मीरान हैदर गिरफ्तार, JCC ने की रिहाई की मांग
3 ‘मरकज थी एक बड़ी साजिश, सरकार कराए जांच’, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष की मांग बोले- तब्लीगी जमात को बैन किया जाए