ताज़ा खबर
 

छेड़खानी से रोका तो 17 साल के लड़के का कर दिया कत्ल, 17 आरएसएस कार्यकर्ता गिरफ्तार

चेरथाला के डीएसपी वाई आर रुस्तम ने सभी आरोपियों के आरएसएस से जुड़े होने की पुष्टि करते हुए कहा कि यह प्लानिंग के तहत की गई हत्या है। मृतक करीब एक साल पहले तक आरएसएस से जुड़ा था और आरएसएस की शाखा में भी जाता था।

Author April 9, 2017 1:18 PM
कर्नाटक के सैनिक स्कूल में छात्र मृत पाया गया है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केरल के अलाप्पुझा जिले में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) से जुड़े 17 लोगों को 17 साल के लड़के की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया है। हत्या की वजह स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियों के साथ हुई छेड़छाड़ बताई जा रही है। पुलिस ने शनिवार को कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों में 7 नाबालिग है और उसी स्कूल में पढ़ते हैं, जहां पीड़ित पढ़ता था। कथित तौर पर पीड़ित ए अंततु की बुधवार को कुछ लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। पुलिस का कहना है कि अंततु और उसके दो दोस्तों ने अपने साथ पढ़ने वाले छात्रों से स्कूल में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करने पर सवाल उठाया था। जिसके बाद स्कूल में दोनों गुटों में विवाद हुआ। तब से अंततु को विरोधियों ने टारगेट किया। यही नहीं हाल ही में एक मंदिर के कार्यक्रम में उस पर हमला करने की भी कोशिश की गई।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुधवार रात को विरोधियों ने अतंतु को वायलार स्थित घर के पास मंदिर से पकड़ लिया और उसे खींचकर सुनसान जगह ले गए। जिसके बाद उसके साथ मारपीट की गई। अंततु के दोस्त उसे अस्पताल लेकर जा रहे थे, इसी दौरान उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। अधिकारी ने कहा कि वे अदालत में याचिका दायर करेंगे और अपराध की गंभीरता को देखते हुए नाबालिगों पर वयस्क के रूप में कार्रवाई करने की मांग करेंगे।

चेरथाला के डीएसपी वाई आर रुस्तम ने सभी आरोपियों के आरएसएस से जुड़े होने की पुष्टि करते हुए कहा कि यह प्लानिंग के तहत की गई हत्या है। मृतक करीब एक साल पहले तक आरएसएस से जुड़ा था और आरएसएस की शाखा में भी जाता था। लेकिन पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने के चलते उसने यह सब छोड़ दिया था। उन्होंने आगे कहा कि यह राजनैतिक हत्या नहीं है।

अलाप्पुझा बीजेपी जिलाध्यक्ष ने इसे गैर-इरादतन हत्या का मामला बताते हुए कहा कि पीड़ित करीब साल भर पहले तक आरएसएस से जुड़ा था। उसके परिवार वाले बीजेपी के कार्यकर्ता हैं। यह कहना बेबुनियाद है कि उसे आरएसएस छोड़ने की वजह से मारा गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें से कुछ लोग हाल ही में सीपीआई और सीपीआई (एम) छोड़कर संघ में शामिल हुए हैं।

RSS नेता जगदीश गगनेजा का निधन, डेढ़ महीने पहले मारी गई थी गोली

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App