ताज़ा खबर
 

16 दिसंबर बलात्कार कांड के दोषी के बयान पर भड़के राजनाथ सिंह, किया कड़ा ऐतराज

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 16 दिसंबर के बहुचर्चित सामूहिक बलात्कार कांड के दोषी मुकेश सिंह से तिहाड़ जेल में एक ब्रिटिश फिल्मकार द्वारा साक्षात्कार करने पर आज कड़ा ऐतराज जताया और जेल प्रमुख से इस पूरे मुद्दे पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी । आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हिरासत में मुजरिम से साक्षात्कार किए जाने […]

Author Published on: March 3, 2015 3:49 PM

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 16 दिसंबर के बहुचर्चित सामूहिक बलात्कार कांड के दोषी मुकेश सिंह से तिहाड़ जेल में एक ब्रिटिश फिल्मकार द्वारा साक्षात्कार करने पर आज कड़ा ऐतराज जताया और जेल प्रमुख से इस पूरे मुद्दे पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी ।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हिरासत में मुजरिम से साक्षात्कार किए जाने की घटना को गंभीरता से लेते हुए गृहमंत्री ने तिहाड़ जेल के महानिदेशक आलोक कुमार वर्मा से बात की और उनसे इस घटना पर तत्काल विस्तृत रिपोर्ट मांगी।

सूत्रों के मुताबिक टेलीफोन पर बातचीत के दौरान जेल महानिदेशक ने गृहमंत्री को घटना के बारे में और उस संबंध में अबतक की गयी कार्रवाई के बारे में बताया। मीडिया में खबर आयी है कि ब्रिटिश फिल्मकार लेसली उडविन और बीबीसी को बस ड्राइवर मुकेश सिंह से साक्षात्कार करने की अनुमति दी गयी थी। मुकेश सिंह को 16 दिसंबर, 2012 की रात को 23 साल की एक लड़की से नृशंस सामूहिक बलात्कार करने और उसकी हत्या करने के जुर्म में मृत्युदंड सुनाया गया है।

साक्षात्कार में मुकेश ने कहा था कि रात को घर से निकलने वाली महिलाओं पर यदि छेड़खानी करने वाले पुरूषों के गिरोह का ध्यान जाता है तो उसके लिए केवल वे :महिलाएं: ही जिम्मेदार हैं।

उसने कहा था, ‘‘बलात्कार के लिए एक लड़के से ज्यादा लडकी जिम्मेदार है।’’

मुकेश ने यह भी कहा था कि यदि लड़की और उसके दोस्त भिड़ने की कोशिश नहीं करते तो गिरोह उसकी ऐसी वहशी मार-पिटाई नहीं करते जिससे बाद में उसकी :लड़की की: मौत हो गयी।

हत्या को दुर्घटना करार देते हुए उसने कहा था कि जब बलात्कार किया जा रहा था तो उसे भिड़ना नहीं चाहिए था। उसे चुपचाप रहना चाहिए था और बलात्कार होने देना चाहिए था। ऐसे में वे उसे कहीं बाद में उतार देते और बस लड़के की पिटाई करते।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories