ताज़ा खबर
 

16 दिसंबर RECALL: इसी नाबालिग ने ढाया था निर्भया पर सबसे ज्‍यादा जुल्‍म, पढ़ें पूरी कहानी

17 साल 6 महीने की उम्र में 16 दिसंबर 2012 को दिल्‍ली के बसंत विहार में निर्भया के साथ जिस शख्‍स ने सबसे ज्‍यादा बर्बरता की थी, वो आज सबसे कम सजा पाकर छूट गया।

Author नई दिल्‍ली | December 21, 2015 4:04 PM
निर्भया बलात्कार केस में शामिल नाबालिग अपराधी।

दिल्‍ली गैंगरेप केस का नाबालिग दोषी सिर्फ तीन साल सजा काटने के बाद 20 दिसंबर को रिहा हो गया। उसकी रिहाई से देश के इंसाफ पसंद लोग दुखी हैं तो निर्भया की मां और पिता की आंखों से आंसू बह रहे हैं। वे टीवी चैनलों से कई बार कह चुके हैं कि उनके साथ न्‍याय नहीं हुआ। 17 साल 6 महीने की उम्र में 16 दिसंबर 2012 को दिल्‍ली के बसंत विहार में निर्भया के साथ जिस शख्‍स ने सबसे ज्‍यादा बर्बरता की थी, वो 20 दिसंबर को सबसे कम सजा पाकर छूट गया। मीडिया में बात सामने न आई होती तो शायद दिल्‍ली सरकार की ओर से उसे नई जिंदगी शुरू करने के लिए 10, 000 रुपए और एक सिलाई मशीन भी मिल गई होती। दिल्ली गैंगरेप केस के इस छठे आरोपी की रिहाई पर वैसे तो सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होनी, लेकिन कानून के जानकारों को उम्‍मीद कम ही है।

निर्भया के साथ सबसे ज्‍यादा बर्बरता इसी ने की थी

20 दिसंबर को जो बालिग रिहा किया गया, उसने 16 दिसंबर 2012 की रात निर्भया पर सबसे ज्‍यादा जुल्‍म ढाए थे। निर्भया की मौत का सबसे बड़ा जिम्मेदार ये लड़़का ही है। पुलिस जांच में सामने आ चुका है कि इस छठे नाबालिग दोषी ने पीड़ित लड़की को आवाज देकर बस में बुलाया था। यही नहीं, बस में बैठने के बाद सबसे कम उम्र के इसी आरोपी ने बाकी पांचों लोगों को गैंगरेप के लिए न सिर्फ उकसाया बल्कि इस पूरे घटनाक्रम का सूत्रधार भी बना।

जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि इस नाबालिग लड़के ने गैंगरेप के दौरान पीड़ित लड़की पर कई जुल्‍म किए। इस लड़के ने ही दो बार बड़ी बेरहमी से लड़की से बलात्कार किया था। उसकी वहशियाना हरकतों की वजह से ही छात्रा की आंतें तक बाहर आ गई थीं। उस दौरान वो बहादुर लड़की जूझ रही थी, बचने के लिए आरोपियों को दांत से काट रही थी, लात मार रही थी लेकिन शायद उसने भी इस बात की कल्पना नहीं की थी कि लोहे की जंग लगी रॉड के इस्तेमाल से उसके साथ भयानक टॉर्चर होगा। निर्भया की आंतों को नुकसान पहुंचने की वजह से उसके कई बार ऑपरेशन करने पड़े। आखिरकार डॉक्टरों को उसकी आंतें ही काटकर बाहर निकालनी पड़ीं, पूरे शरीर में इंफेक्शन फैल गया, उसे सिंगापुर इलाज के लिए ले जाया गया, लेकिन खुद को नाबालिग बताने वाले उस बर्बर आरोपी के आगे दवा और दुआ फेल हो गई और दर्द से लड़ते हुए पीड़ित ने दम तोड़ दिया।

Read Also

निर्भया कांड का दोषी किशोर रिहा, किसी गुप्त स्थान पर रखा गया

दोषी की रिहाई पर निर्भया के माता-पिता ने कहा, देर से शुरू हुर्इं कोशिशें

निर्भया कांड: दोषी किशोर की रिहाई के विरोध में लोगों का प्रदर्शन, इंडिया गेट पर धारा 144

आप और कांग्रेस की लापरवाही से निर्भया का दोषी किशोर हुआ रिहा: भाजपा

Delhi gangrape: राजपथ पर प्रदर्शन, हिरासत में लिए जाने के दौरान निर्भया की मां को लगी चोट

उमा भारती बोलीं- कांग्रेस के कारण नहीं मिला निर्भया को इंसाफ

कैलाश विजयवर्गीय बोले- निर्भया के क्रूर हत्‍यारे की रिहाई पर मौन क्‍यों है अवॉर्ड वापसी गिरोह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App