ताज़ा खबर
 

16 दिसंबर RECALL: इसी नाबालिग ने ढाया था निर्भया पर सबसे ज्‍यादा जुल्‍म, पढ़ें पूरी कहानी

17 साल 6 महीने की उम्र में 16 दिसंबर 2012 को दिल्‍ली के बसंत विहार में निर्भया के साथ जिस शख्‍स ने सबसे ज्‍यादा बर्बरता की थी, वो आज सबसे कम सजा पाकर छूट गया।
Author नई दिल्‍ली | December 21, 2015 16:04 pm
निर्भया बलात्कार केस में शामिल नाबालिग अपराधी।

दिल्‍ली गैंगरेप केस का नाबालिग दोषी सिर्फ तीन साल सजा काटने के बाद 20 दिसंबर को रिहा हो गया। उसकी रिहाई से देश के इंसाफ पसंद लोग दुखी हैं तो निर्भया की मां और पिता की आंखों से आंसू बह रहे हैं। वे टीवी चैनलों से कई बार कह चुके हैं कि उनके साथ न्‍याय नहीं हुआ। 17 साल 6 महीने की उम्र में 16 दिसंबर 2012 को दिल्‍ली के बसंत विहार में निर्भया के साथ जिस शख्‍स ने सबसे ज्‍यादा बर्बरता की थी, वो 20 दिसंबर को सबसे कम सजा पाकर छूट गया। मीडिया में बात सामने न आई होती तो शायद दिल्‍ली सरकार की ओर से उसे नई जिंदगी शुरू करने के लिए 10, 000 रुपए और एक सिलाई मशीन भी मिल गई होती। दिल्ली गैंगरेप केस के इस छठे आरोपी की रिहाई पर वैसे तो सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होनी, लेकिन कानून के जानकारों को उम्‍मीद कम ही है।

निर्भया के साथ सबसे ज्‍यादा बर्बरता इसी ने की थी

20 दिसंबर को जो बालिग रिहा किया गया, उसने 16 दिसंबर 2012 की रात निर्भया पर सबसे ज्‍यादा जुल्‍म ढाए थे। निर्भया की मौत का सबसे बड़ा जिम्मेदार ये लड़़का ही है। पुलिस जांच में सामने आ चुका है कि इस छठे नाबालिग दोषी ने पीड़ित लड़की को आवाज देकर बस में बुलाया था। यही नहीं, बस में बैठने के बाद सबसे कम उम्र के इसी आरोपी ने बाकी पांचों लोगों को गैंगरेप के लिए न सिर्फ उकसाया बल्कि इस पूरे घटनाक्रम का सूत्रधार भी बना।

जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि इस नाबालिग लड़के ने गैंगरेप के दौरान पीड़ित लड़की पर कई जुल्‍म किए। इस लड़के ने ही दो बार बड़ी बेरहमी से लड़की से बलात्कार किया था। उसकी वहशियाना हरकतों की वजह से ही छात्रा की आंतें तक बाहर आ गई थीं। उस दौरान वो बहादुर लड़की जूझ रही थी, बचने के लिए आरोपियों को दांत से काट रही थी, लात मार रही थी लेकिन शायद उसने भी इस बात की कल्पना नहीं की थी कि लोहे की जंग लगी रॉड के इस्तेमाल से उसके साथ भयानक टॉर्चर होगा। निर्भया की आंतों को नुकसान पहुंचने की वजह से उसके कई बार ऑपरेशन करने पड़े। आखिरकार डॉक्टरों को उसकी आंतें ही काटकर बाहर निकालनी पड़ीं, पूरे शरीर में इंफेक्शन फैल गया, उसे सिंगापुर इलाज के लिए ले जाया गया, लेकिन खुद को नाबालिग बताने वाले उस बर्बर आरोपी के आगे दवा और दुआ फेल हो गई और दर्द से लड़ते हुए पीड़ित ने दम तोड़ दिया।

Read Also

निर्भया कांड का दोषी किशोर रिहा, किसी गुप्त स्थान पर रखा गया

दोषी की रिहाई पर निर्भया के माता-पिता ने कहा, देर से शुरू हुर्इं कोशिशें

निर्भया कांड: दोषी किशोर की रिहाई के विरोध में लोगों का प्रदर्शन, इंडिया गेट पर धारा 144

आप और कांग्रेस की लापरवाही से निर्भया का दोषी किशोर हुआ रिहा: भाजपा

Delhi gangrape: राजपथ पर प्रदर्शन, हिरासत में लिए जाने के दौरान निर्भया की मां को लगी चोट

उमा भारती बोलीं- कांग्रेस के कारण नहीं मिला निर्भया को इंसाफ

कैलाश विजयवर्गीय बोले- निर्भया के क्रूर हत्‍यारे की रिहाई पर मौन क्‍यों है अवॉर्ड वापसी गिरोह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    ashish shukla
    May 7, 2017 at 10:03 am
    इनकी मां की ये मदर्जाद सालो को दया भी नहीं आती जो नाबालिक रिहा किया गया है उसे फांसी होनी चाहिए ताकि कोई भी दूबारा ऐसी हरकत ना करे में निर्भया कांड की निन्दा करता हूं ..
    (0)(0)
    Reply
    1. Avtar Chauhan
      Dec 20, 2015 at 1:58 pm
      थे इन्फमोउस एपिसोड है नो पैरेलल इन इंडियन हिस्ट्री! थे केस अगेंस्ट थे बॉय क्रिमिनल सींस तो हवे बीन दिलुटेड देय तो अवोइडाब्ले तेच्निकालीटीएस! एंड लो हे है बीन फ्रीड आफ्टर ३ ईयर जेल: अस अ मेजर नो मोरे अ माइनर! टुमारो थे होराब्ले सुप्रीम कोर्ट विल बे टेकिंग थे केस फाइल बी थे गोवत अथॉरिटीज! अ रेजर डांस! थे पेरेंट्स ऑफ़ थे पुअर गर्ल्स अहवे बीन लेफ्ट तो दिए अ स्लो डेथ! फेथ इन गॉड इस थे ओनली सोर्स ऑफ़ कम्फर्ट तो डेफ़ेअट थे क्रिमिनल्स & को!
      (0)(0)
      Reply
      1. H
        Harish Nandan
        Dec 21, 2015 at 12:41 pm
        ऐसे ऐसे नरपिसाच लोग बच्‍चे नहीं होते हम तो कहते हैं आज दिल्‍ली में क्‍या हो रहा है कहीं कोई महिला किसी टेम्‍पू वाले से रेप कर रही है कहीं कोई बच्‍ची से कहीं कोई किसी बुढी से का हो रहा है यह क्‍या कुछ लोगों ने हमारे देश की राजधानी को सेक्‍स टेन्‍शन में रहने वालों की राजधानी बना दिया है ध्‍यान रहे यह हमारे देश की राजधानी है अगर जादा अनाचार/अत्‍याचार फैलाओगे तो हम भारतीय कमान अपने हाथों में ले लेंगे
        (0)(0)
        Reply
        1. Mansi Sahu
          Dec 20, 2015 at 5:19 pm
          The above statement is factually wrong... If Delhi police has really mentioned it in the chargsheet then quote it here... Please don't manufacture your news for the sake of just mugging up anything... Please have some credibility ...
          (1)(1)
          Reply