ताज़ा खबर
 

शनि शिंगणापुर मंदिर में घुसने जा रही महिलाओं को पुलिस ने रोका

भूमाता ब्रिगेड की अध्‍यक्ष तृप्ति देसाई ने कहा कि,' इसके बाद हम मंदिर में घुसेंगी और शनि मूर्ति वाले प्‍लेटफॉर्म पर चढ़ेंगी। हमें पता है कि पुलिस हमें मंदिर परिसर में नहीं जाने देंगी।

Shani Shingnapur temple में पिछले साल एक महिला के घुसने पर काफी विवाद हुआ था। यहां शनिदेव की प्रतिमा को छूना महिलाओं के लिए वर्जित है।

अहमदनगर जिले के शनि शिंगणापुर मंदिर में घुसने की कोशिश कर रही महिलाओं को पुलिस ने रोक दिया है। कई महिलाओं को हिरासत में लिया गया है और उन्‍हें गाडि़यों में दूसरी जगह ले जाया गया है। पुलिस ने पहले ही मंदिर के आसपास धारा 144 लगा दी थी। इससे पहले भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड ने सोमवार को कहा कि,पूरे महाराष्‍ट्र की महिलाएं दोपहर एक बजे शनि शिंगणापुर मंदिर के बाहर इकट्ठी होंगी और मंदिर में जाएंगी।

भूमाता ब्रिगेड की अध्‍यक्ष तृप्ति देसाई ने कहा कि,’ इसके बाद हम मंदिर में घुसेंगी और शनि मूर्ति वाले प्‍लेटफॉर्म पर चढ़ेंगी। हमें पता है कि पुलिस हमें मंदिर परिसर में नहीं जाने देंगी। हम किसी तरह की हिंसा में शामिल नहीं होगी। हम पुलिसकर्मियों को फूल देने के गांधीवादी तरीके अपनाएंगी ताकि मंदिर में जाने की अनुमति मिल सके।’ देसाई ने कहा कि पुलिस महिलाओं को रोकने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी लेकिन उनके पास एक गुप्‍त प्‍लान भी है।

Read Also: शनि शिंगणापुर मंदिर में ऐतिहासिक बदलाव, 53 साल बाद महिला बनी अध्‍यक्ष

इस बारे में उन्‍होंने कहा कि, ‘जैसे कि यह गुप्‍त प्‍लान है तो हम किसी को नहीं बताएंगे। हम एक सरप्राइज देंगे, इंतजार करिए और देखिए। जो वे चाहते हैं उन्‍हें वो करने दो। इससे हम पीछे नहीं हटेंगे। हम इस परंपरा को गणतंत्र दिवस पर करने को लेकर दृढ़ हैं। 1500 से ज्‍यादा महिलाएं कल मंदिर में घुसेंगी।’ इससे पहले महिलाओं ने हैलीकॉप्‍टर को इस्‍तेमाल करने की अनुमति मांगी थी लेकिन जिला प्रशासन ने इससे मना कर दिया।

Read Alsoमहिला ने मंदिर में प्रवेश कर तोड़ी सदियों पुरानी परंपरा, बाद में हुआ शनिधाम का शुद्धिकरण

इस बारे में असिस्‍टेंट इंस्‍पेक्‍टर प्रशांत मंडले ने क‍हा कि, महिला कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस तैयार है और कई आदेश जारी कर दिए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि, लेकिन इससे पहले हमने पुणे पुलिस को गिरफ्तारियां करने के लिए पत्र लिखा है। हम निश्‍चित हैं कि महिलाओं को शनि शिंगणापुर से पहले ही रोक लिया जाएगा।’

Next Stories
ये  पढ़ा क्या?
X