ताज़ा खबर
 

10 माह से वेतन न मिलने के कारण बीएसएनएल के 12 कर्मियों ने की आत्महत्या

रागेश ने दावा किया कि वेतन न मिल पाने की वजह से देश भर में बीएसएनएल के 12 कर्मी आत्महत्या कर चुके हैं।

Author नई दिल्ली | Published on: November 29, 2019 5:29 PM
माकपा सदस्य के के रागेश ने कहा कि हाल ही में केरल में बीएसएनएल के एक कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली।

सार्वजनिक दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल में करीब दस माह से वेतन कथित तौर पर नहीं मिलने का मुद्दा उठाते हुए शुक्रवार को राज्यसभा में माकपा के एक सदस्य ने दावा किया कि वेतन के अभाव में अब तक इसके 12 कर्मचारी आत्महत्या कर चुके हैं। शून्यकाल के दौरान राज्यसभा में विशेष उल्लेख के जरिये यह मुद्दा उठाते हुए माकपा सदस्य के के रागेश ने कहा ‘‘हाल ही में केरल में बीएसएनएल के एक कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली। इसका कारण बीएसएनएल के कर्मचारियों को दस माह से वेतन न मिल पाना है।’’ रागेश ने दावा किया कि वेतन न मिल पाने की वजह से देश भर में बीएसएनएल के 12 कर्मी आत्महत्या कर चुके हैं।

उन्होंने कहा कि बीएसएनएल में छंटनी भी हो रही है। उन्होंने कहा कि एक खबर के अनुसार, बीएसएनएल में नियमित र्किमयों के 80 फीसदी पद तथा ठेके पर काम करने वाले र्किमयों के 50 फीसदी पद घटाए जाने की योजना है।
रागेश ने मांग की कि सरकार को न केवल बीएसएनएल की आर्थिक हालत पर बल्कि इन र्किमयों के भविष्य पर भी ध्यान देना चाहिए। विशेष उल्लेख के जरिये वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के विजय साई रेड्डी ने आंध्रप्रदेश में इस साल पड़े भीषण सूखे और फिर आई बाढ़ के कारण हुए नुकसान का जिक्र करते हुए कहा कि इस स्थिति में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) की अहम भूमिका है।

रेड्डी ने कहा कि प्रभावित इलाके में मनरेगा के तहत ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराया जाना चाहिए तथा जिन इलाकों में इसके तहत कार्य कराए गए हैं, वहां लंबित भुगतान शीघ्र करना चाहिए। तृणमूल कांग्रेस के अहमद हसन ने स्कूलों में चलाई जा रही मध्याह्न भोजन योजना का मुद्दा विशेष उल्लेख के जरिये उठाया। उन्होंने कहा कि बच्चों के आहार में पोषक तत्वों पर खास ध्यान देना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक बच्चे को समुचित पोषण मिले।

इनके अलावा, कांग्रेस के बी के हरिप्रसाद और रिपुन बोरा, राजद के मनोज कुमार झा, सपा के रविप्रकाश वर्मा, भाजपा के सत्यनारायण जटिया, अन्नाद्रमुक के ए के सेल्वाराज तथा माकपा के इलामारम करीम ने भी विशेष उल्लेख के जरिये लोक महत्व से जुड़े अपने अपने मुद्दे उठाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 महाराष्ट्र में 10 रुपए में खाना और नौकरियों में स्थानीय लोगों को मिलेगी तरजीह, उद्धव सरकार सबसे पहले करेगी ये काम
2 महाराष्ट्र अघाड़ी के खिलाफ SC ने खारिज की याचिका, जज बोले- हमसे न करें उम्मीद, राजनीतिक दल अपने वादे खुद लागू करें
3 PM मोदी के भाई प्रहलाद मोदी सरकार के खिलाफ देंगे धरना, PDS में अनियमितता दूर करने और भूख मुक्त भारत की मांग
जस्‍ट नाउ
X