ताज़ा खबर
 

​Independence Day Speech 2016: ​जानिए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की प्रमुख बातें

​Independence Day Speech 2016: लाल किले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने 'स्‍वराज्‍य की बजाय सुराज्‍य' की बात की।

Author नई दिल्ली | August 15, 2016 12:39 pm
लाल किले से जनता का अभिवादन स्‍वीकार करते प्रधानमंत्री। (Source: Twitter)

भारत आज अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों को अपने ट्विटर हैंडल से स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। सुबह करीब 7 बजे राजघाट पहुंचकर प्रधानमंत्री ने राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। उसके बाद लाल किला पहुंच कर प्रधानमंत्री ने ध्‍वजारोहण किया। लाल किले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने ‘स्‍वराज्‍य की बजाय सुराज्‍य’ की बात की। उन्‍होंने पाकिस्‍तान की धरती पर आतंकवाद के खिलाफ आवाज बुलंद की और बलूचिस्‍तान का मुद्दा भी उठाया। आइए आपको बताते हैं प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की 10 प्रमुख बातें:

प्रधानमंत्री के शब्‍दों में: 

# जहां आतंकवादी हमला होने पर जश्‍न मनाया जाता हो, वहां की सरकार कैसी होगी, पता नहीं मैं और जिक्र नहीं करना चाहता। पिछले कुछ दिनों में गिलगित, बलूचिस्‍तान, पीओके के लोगों ने जिस प्रकार मुझे धन्‍यवाद दिया है। जिन लोगों से मेरी कभी मुलाकात नहीं हुई है, ऐसे लोग हिंदुस्‍तान के प्रधानमंत्री का आदर करते हैं तो हम मेरे सवा सौ करोड़ देशवासियों का सम्‍मान है। मैं उनका आभार व्‍यक्‍त करना चाहता हूं।

# हमने सर झुकाकर पुरानी सरकारों के काम को भी उतनी ही तवज्‍जो दी है। मैं एक प्रगति कार्यक्रम चलाता हूं। हर महीने खुद रिव्‍यू करता हूं। साढ़े 18,000 करोड़ रुपए के प्रोजेक्‍ट जो लटके पड़े थे, उनको खोद कर निकाला और अब वो पूरे हो रहे हैं।

# एक समय था जब सरकार आरोपों से घिरी होती थी, आज की सरकार अपेक्षाओं से घिरी हुई है। अपेक्षाएं सुराज की ओर जाने की गति को बढ़ाती हैं। मैं सरकार के कामकाज का हिसाब आपके सामने रख सकता हूं। ब्‍योरा दिया तो सप्‍ताह भर बोलना पड़ेगा।

# कई व्‍यवस्‍थाओं को बदल पाए हैं। पहले एम्‍स में लोगों को महीनों इंतजार करना पड़ता था, हमने सब ऑनलाइन कर दिया। हम इसे देशव्‍यापी कल्‍चर के रूप में विकसित करना चाहते हैं। लेकिन इसका मूलमंत्र, शासन संवेदशनील होना चाहिए, शासन उत्‍तरदायी होना चाहिए।

READ ALSO: स्‍वतंत्रता दिवस पर राहुल गांधी ने किया ट्वीट, कमेंट आया- Twitter से ही स्‍पीच देते रह जाओगे, लाल किले से कब दोगे

# आम आदमी पुलिस से ज्‍यादा इनकम टैक्‍स से डरता था। सब ज्‍यादा पैसा दे जाते थे। मुझे यह व्‍यवस्‍था बदलनी है, बदलकर रहूंगा, मैं लगा हुआ हूं। हमने रिफंड की व्‍यवस्‍था की, अब टैक्‍स रिफंड कुछ ही हफ्तों में आ जाते हैं। शासन में सुराज के पारदर्शिता पर बल देना महत्‍वपूर्ण है।

# पहले कंपनी रजिस्‍ट्रेशन में बहुत वक्‍त लगता था। हमने बहुत तेजी से बदलाव किए। मैंने पहले भाषण में कहा था कि ग्रुप सी और ग्रुप डी को साक्षात्‍कार से बाहर कर देंगे। सीधे मेरिट से नियुक्तियां होंगी। मेरे नौजवानों को इंटरव्‍यू के लिए खर्चा नहीं करना पड़ेगा। भ्रष्‍टाचारियों और दलालों का धंधा बंद कर दिया।

# हमने चार करोड़ से बढ़ाकर 70 करोड़ नागरिकों को आधार और सार्वजनिक योजनाओं के साथ जोड़ने का काम पूरा कर लिया है। एक तरफ 60 साल में 14 करोड़ गैस के कनेक्‍शन, हमने 7 सप्‍ताह में चार करोड़ लोगों को गैस कनेक्‍शन दिए। यह आम आदमी के जीवन-स्‍तर में बदलाव लाने की दिशा में प्रयास है।

# हमने आधार कार्ड को सरकारी योजनाओं से जोड़ा है। एक समय था, जब विधवा पेंशन, स्‍कॉलरशिप, विकलांगों के लिए कोई व्‍यवस्‍था हो, सरकारी खजाने से मदद जाती थी। लेकिन हमने देखा कि जिन्‍होंने जन्‍म ही नहीं लिया, उनका नाम भी लाभार्थियों की सूची में हैं। ये बिचौलिए अरबों, खरबों रुपए निकाल देते थे, हमने व्‍यवस्‍था बदल दी।

READ ALSO: जब संसद में जवाहरलाल नेहरू ने किया था आजादी का एलान, देखें पहले जश्‍न की RARE PHOTOS

# इतने कम समय में हिन्‍दुस्‍तान के गांवों में दो कराेड़ से ज्‍यादा शौचालय बन चुके हैं। 1000 दिन में हम, उन 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाएंगे। आज मैं खुशी से कहता हूं कि हजार में आधे दिन भी नहीं हुए हैं, उसके बावजूद 10,000 गांवों में बिजली पहुंच गई है। आज वे पहली बार आजादी के इस जश्‍न को टीवी पर देख रहे हैं।

# हमने 350 रुपए में बिकने वाला एलईडी बल्‍ब सरकार के हस्‍तक्षेप की वजह से अब 50 रुपए में बांट रहे हैं। मैं नहीं पूछना चाहता कि यह रुपए कहां गए। 13 करोड़ बल्‍ब बंट चुके हैं, 70 करोड़ बांटने का लक्ष्‍य है। आप भी घरों में एलईडी बल्‍ब लगाइए। हमारे घरों में एलईडी बल्‍ब लगेंगे तो 20,000 मेगावाट बिजली बचेगी।

READ ALSO: लाल किले से पीएम मोदी के भाषण के दौरान सामने आई यह फोटो, सोशल मीडिया पर ऐसे उड़ा मजाक

# यह बात सही है कि पहले की सरकार में महंगाई दर 10 प्रतिशत को पार कर गई थी। हमने प्रयास कर महंगाई दर 6 प्रतिशत से ऊपर नहीं जाने दी। हमने रिजर्व बैंक से बात की है कि वह महंगाई को रोकने के लिए काम करे। दो साल देश में अकाल रहा, सब्जियों के दाम पर इसका प्रभाव तुरंत होता है। कुछ दिक्‍कतें जरूर आईं। इसके कारण दाल के उत्‍पादन में गिरावट भी चिंता का विषय बनी। इसके बावजूद भी जिस तरह पहले महंगाई बढ़ती थी, उसी तरह बढ़ी होती तो पता नहीं क्‍या होती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App