scorecardresearch

Umang App पर 22 हजार से अधिक सेवाएंः कोविड पीएफ एडवांस निकालने से लेकर आसानी से निपटा सकते हैं ये काम

नई दिल्लीः बीजेपी का दावा है कि उमंग एप के जरिए 279 विभागों से जुड़ी 22,000 से अधिक सेवाओं का लाभ लिया जा सकता है।

mobile payment, phonepe, tech news
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः unsplash)

भारत सरकार के उमंग एप के जरिये आप घर बैठे कई सारे काम कर सकते हैं। इसे डाउनलोड करने के बाद अलग-अलग ऑनलाइन कामों के लिए फिर अलग-अलग वेबसाइट्स पर जाने की जरूरत नहीं पड़ती। बीजेपी का दावा है कि उमंग ऐप के माध्यम से विभिन्न सरकारी सेवाओं का लाभ देश की जनता को डिजिटल रूप में प्राप्त हो रहा है। 279 विभाग ऐप पर 22,000 से अधिक सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं।

इसका लाभ उठाने के लिए अपने मोबाइल में उमंग एप को डाउनलोड करना होगा। उसके बाद एप पर खुद को रजिस्टर करने के लिए डिटेल दर्ज करना होगा। फिर मोबाइल नंबर को वैरिफाई करके M-PIN सेट करना होगा। इसके बाद विभिन्न सेवाओं का घर बैठे लाभ उठाया जा सकता है। उमंग एप पर डिजिलॉकर की भी सुविधा मिलती है। इससे आधार, पैन, पीएफ बैलेंस चेक, एनपीएस की डिटेल, पानी और बिजली बिलिंग सर्विस, भारत गैस सर्विस, इनकम टैक्स, सीबीएसई और आयुष्मान भारत योजना से जुड़े काम कर सकते हैं।

अगर पीएफ से पैसा निकालना हो तो…

नौकरी करने वाले लोगों की तनख्वाह का कुछ हिस्सा पीएफ में जाता है। इसका इस्तेमाल लोग अपनी नौकरी छोड़ने के बाद या रिटायरमेंट के बाद की पैसों की जरूरतों में करते हैं। लेकिन कई बार बीच में भी जरूरत पड़ने पर लोग अपने पीएफ खाते में से पैसा निकाल लेते हैं। कोरोना संकट के दौरान लोगों को बीच में ही पैसा निकालने की कई बार ज्यादा जरूरत पड़ी है।

ईपीएफओ ने कर्मचारियों के लिए पैसे निकालने की कुछ शर्तें तय की हैं। इनमें इलाज, नया घर खरीदने, घर के कंस्ट्रक्शन, रेनोवेशन, होम लोन रीपेमेंट और शादी के लिए पैसे निकाले जा सकते हैं। अगर कोई कोरोना के इलाज के लिए पैसे निकालना चाहता है तो वो पति या पत्नी या सदस्य या माता-पिता या बच्चों के लिए मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में ईपीएफ खाते से पैसा निकाल सकता हैं। इस ईपीएफ विदड्राल पर कोई लॉक-इन अवधि या न्यूनतम सेवा अवधि लागू नहीं होती है।

उमंग के अलावा भी सरकार ने ये एप बनाए हैं

CBEC GST वित्त मंत्रालय के तहत काम करने वाले सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम ने इसे बनाया है। इसमें टैक्स पेयर्स को जीएसटी से जुड़ी जानकारियां उपलब्ध होती हैं।

AAYKAR SETE इनकम टैक्स की तरफ से बनाए गए इस ऐप में टैक्स से जुड़ी जानकारियां जुटाई जा सकती हैं। रिटर्न और टीडीएस से जुड़ी सुविधाएं भी इसमें उपलब्ध हैं।

M-KAVACH ये एक तरह का सिक्योरिटी एप है। मालवेयर और हैकिंग से ये एक सुरक्षा कवच प्रदान करता है। वाईफाई, ब्लूटूथ, कैमरा और मोबाइल डेटा को भी ये प्रोटेक्ट करता है।

BHIM यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के दौर में भीम एप बेहद कारगर है। मोबाइल के जरिए ट्रंजिक्शन की सुविधा देने वाला ये एप पैसा लेने के साथ भेजने में भी कारगर है।

पढें Money (Money News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट