ताज़ा खबर
 

तनाव से मुक्ति दिला सकते हैं योग के ये आसन, बेहद हैं आसान

चिंता की समस्या को दूर करने के लिए आप योग के कुछ आसनों का नियमित अभ्यास कर सकते हैं। इन आसनों की मदद से आपको कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी मिल सकते हैं।

शिल्पा शेट्टी (Source: Indian Express)

चिंता होना कोई सामान्य समस्या नहीं है। इस वजह से मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है। कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें छोटी-छोटी बातों की चिंता हो जाती है। कई लोग इस समस्या से निजात पाने के लिए दवाइयों का सेवन करते हैं, तो कई एक्सरसाइज का अभ्यास करते हैं। लेकिन सबसे अधिक प्रभावी योग का अभ्यास करना होता है। योग के कई आसन हैं जिनका नियमित रूप से अभ्यास आपकी चिंता को कम करने के साथ-साथ स्वास्थ्य को और भी कई अन्य स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसलिए यदि आप भी अपनी चिंता से छुटकारा पाना चाहते हैं तो योग के इन आसनों का अभ्यास जरूर करें।

उष्ट्रासन:
इस आसन को करने के लिए योगा मैट पर घुटने के बल बैठ जाएं। अब एड़ियों को पीछे की तरफ मोड़ लें। दोनों हाथों से दोनों एड़ी को पकड़ें और सिर को धीरे-धीरे पीछे की तरफ झुकाएं। जितनी देर संभव हो आप इस अवस्था में बनें रहें और फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं।

(Source: Youtube)

सेतुबंधासन:

(Source: Youtube)

सेतुबंधासन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर सीधे लेट जाएं और दोनों हाथों को जमीन पर रख लें। इसके बाद पीठ के निचले हिस्से को ऊपर की तरफ धीरे-धीरे उठाएं और दोनों जांघों को एक साथ रखें। ध्यान रहे शरीर का निचला हिस्सा स्थिर होना चाहिए। इस आसन में 90 सेकेंड तक रहें और सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था में आ जाएं।

बद्ध कोणासन:

(Source: Youtube)

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर बैठ जाएं। अब दोनों पैरों को बाहर की तरफ करते हुए दोनों पंजों को एक-साथ लाएं। इसके बाद हाथों से पंजों को पकड़ें और सिर को पंजें पर सटाएं। इस अवस्था में लगभग 30 सेकेंड तक रहें।

बालासन:

(Source: Youtube)

बालासन का अभ्यास करने के लिए योगा मैट पर आरामदायक अवस्था में घटनों के बल बैठ जाएं। अब एड़ियों को पीछे कर लें। इसके बाद धीरे-धीरे आगे की तरफ झुकते हुए सिर को जमीन पर रखें और हथेलियों को भी जमीन पर रखें। आप इस अवस्था में 30 सेकेंड से लेकर 5 मिनट तक रह सकते हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App