ताज़ा खबर
 

स्टूडेंट्स के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकते हैं योग के ये 4 आसन

छात्रों के लिए यह आसन इसलिए भी लाभदायक है कि क्योंकि इस आसन को करने से आलस दूर भागता है तथा स्फूर्ति बनी रहती है। यह आसन जहां आपको शारीरीक रुप से भी मजबूत बनाता है वहीं इसके जरिए क्रोध पर भी कंट्रोल किया जा सकता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

तेजी से दौड़ती-भागती जिंदगी के कारण अपनी सेहत का ख्याल रख पाना बेहद मुश्किल हो गया है। ऐसे में रोजा योग करना आपके लिए शारीरिक तथा मानसिक रुप से काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में छात्रों के लिए भी तनाव कम नहीं है। स्कूल, कॉलेज के दिनों में बेहतर मार्क्स हासिल करने की जद्दोजहद और फिर सुनहरे करियर के लिए जी-तोड़ तैयारी। ऐसे हालात में छात्रों को खुद को शारीरीक और मानिसक तौर पर मजबूत बनाए रखना बेहद जरूरी है। योग के 5 ऐसे अहम आसन हैं जो तनाव कम करने और एकाग्रता बढ़ाने में छात्रों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

एक पदासन :
नाम से ही स्पष्ट है कि यह आसन एक पांव पर खड़ा होकर किया जाता है। इस आसन द्वारा मानसिक तनाव को काफी कम किया जा सकता है। छात्रों के लिए यह आसन इसलिए भी लाभदायक है कि क्योंकि इस आसन को करने से आलस दूर भागता है तथा स्फूर्ति बनी रहती है। यह आसन जहां आपको शारीरीक रुप से भी मजबूत बनाता है वहीं इसके जरिए क्रोध पर भी कंट्रोल किया जा सकता है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹900 Cashback

भुजंगासन :
पेट के बल लेटकर किये जाने वाले इस आसन को रोजाना करने से मोटापे को कंट्रोल किया जा सकता है। शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी को बनाए रखने और उसे स्लिम-ट्रिम बनाए रखने में यह आसन काफी फायदेमंद साबित होता है।

प्राणायाम :
छात्रों के अलावा हर उम्र के लोगों को इस आसन से काफी लाभ मिलता है। स्ट्रेस को दूर करने और किसी चीज पर ध्यान केंद्रित करने में यह आसन काफी फायदेमंद साबित होता है। सांस को धीमी गति से गहरी खींचकर रोकना और बाहर निकालना प्राणायाम के क्रम में आता है।

दंडासन : 

कई छात्र अक्सर घंटों बैठ कर पढ़ाई करते हैं। इससे उन्हें कभी-कभी रीढ़ की हड्डियों में दर्द की शिकायत भी होती है। लेकिन दंडासन से रीढ़ की हड्डी सीधी रहती है।

सुखासन  :
छात्रों के लिए सबसे अहम है कि उनका ब्रेन पावर बढ़े। सुखासन में दोनों पैरों को क्रॉस करने के साथ पीठ को सीधा रखकर बैठना होता है। इस आसन में मेडिटेशन भी किया जाता है लेकिन ध्‍यान रहे कि इस आसन में हाथ की मुद्रा भी बहुत जरूरी होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App