ताज़ा खबर
 

International Yoga Day 2018: जानें 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस और क्या है इसका इतिहास

World Yoga Day 2018, International Yoga Day 2018 Date, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2018: इतिहासकारों के मुताबिक प्राचीन काल की गुफाओं में ध्यान करने के प्रमाण मिलते हैं। जिसमें मुंबई की एलीफैंटा केव से लेकर हिमालय पर्वत की गुफाएं शामिल हैं। योग प्राचीन भारतीय ज्ञान का समुदाय है।

International Yoga Day 2018 Date: पिछले साल योग दिवस पर नरेंद्र मोदी।(पीएम मोदी की फाइल फोटो PTI)

International Yoga Day 2018 Date, World Yoga Day 2018, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2018: गुरुवार (21 जून, 2018) को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस साल चौथा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। पहली बार 21 जून, 2015 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया था। इस साल भी विश्वभर के करीब 190 देशों में योग दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन योग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिसमें लोगों की भागीदारी, उत्साह और जोश देखते ही बनता है। खुद को फिट रखने के लिए योग बेहद जरूरी है। यह शरीर को लचीला और मजबूत बनाता है। इसके नियमित अभ्यास से शरीर को कई तरह के रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता शक्ति मिलती है। मानसिक तनाव से छुटकारा पाना हो या काम पर कॉन्सट्रेंट करना हो, सभी के लिए योग आपकी मदद करेगा। योग का इतिहास सालों पुराना है। आइए जानते हैं योग का इतिहास और 21 जून को क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस?

योग का इतिहास : योग का इतिहास करीब 5000 वर्ष पुराना है। इतिहासकारों के मुताबिक प्राचीन काल की गुफाओं में ध्यान करने के प्रमाण मिलते हैं। मुंबई की एलीफैंटा केव से लेकर हिमालय पर्वत की गुफाएं इसके प्रमाण हैं की योग प्राचीन भारतीय ज्ञान का समुदाय है। इसके अलावा तमिलनाडु से लेकर असम तक और बर्मा से लेकर तिब्बत तक के जंगलों की कंदराओं में आज भी वो गुफाएं मौजूद हैं, जहां पर योग और ध्यान किया जाता था। योग की उत्पत्त‍ि योग संस्कृत धातु ‘युज’ से उत्‍पन्न हुआ है जिसका अर्थ है व्यक्तिगत चेतना या रूह से मिलन है। राजयोग के अन्तर्गत महिर्ष पतंजलि द्वारा बताए गए अष्टांग हैं यम, नियम, योगासन, प्राणायाम, प्रत्याहार, ध्यान, धारणा और समाधि।

International Yoga Day Essay, Speech: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध

21 जून को क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस? :  21 जून को ग्रीष्म संक्रांति होती है, इसलिए इस तारीख को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है। ग्रीष्म संक्रांति का दिन पूरे वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है। इस दिन सूर्य धरती की दृष्टि से उत्तर से दक्षिण की ओर चलना शुरू करता है। वहीं 11 दिसंबर 2014, वह एक ऐतिहासिक क्षण था जब यूनाइटेड नेशंस की आम सभा ने भारत द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए 21 जून को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ के रूप में घोषित कर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहला (21 जून, 2015) अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 35 हजार से अधिक लोगों और 84 देशों के प्रतिनिधियों ने दिल्‍ली के राजपथ पर योग किया था। दूसरा (21 जून, 2016) चंडीगढ़ में मनाया गया था और तीसरा (21 जून, 2017) अंतरराष्ट्रीय योग दिवस लखनऊ में करीब 51 हजार लोगों के साथ मनाया था। वहीं पीएम मोदी इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को देहरादून में मनाएंगे। देहरादून के फॉरेस्‍ट रिसर्च इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफआरआई) में काफी दिन पहले ही तैयारियां शुरू हो चुकी थीं। योग दिवस का आयोजन करने वाले केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने मुख्‍य सचिव उत्‍पल कुमार सिंह को पत्र भी भेज दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X