ताज़ा खबर
 

Women Health: प्रेग्नेंसी में इन हर्बल टी का कर सकती हैं सेवन, मां और शिशु दोनों के लिए हैं लाभदायक

प्रेग्नेंसी के दौरान रास्पबेरी पत्तियों की चाय सबसे अच्छी मानी जाती है। क्योंकि, इसमें विटामिन बी, कैल्शियम और मैग्निशियम की अच्छी-खासी मात्रा होती है। दूसरे तिमारी का इसका नियमित तौर पर सेवन करने से मां की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।

pregnancy, weight gain during pregnancy, underweight, bmi, body mass indexवजन का ज्यादा बढ़ना भी गर्भवती महिलाओं के लिए खतरनाक साबित हो सकता है

गर्भावस्था का समय हर महिला के जीवन में बेहद ही खास होता है। क्योंकि, इस दौरान मां बनने का जो अहसास होता है, वह बेहद ही अनोखा होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव आते है, जिसका असर उसके शारिरिक और मानसिक विकास पर पड़ता है। इस दौरान महिलाओं का बहुत ही ज्यादा फूड क्रेविंग भी होता है। गर्भावस्था के दौरान ज्यादातर महिलाओं को चाय पीने का मन करता है।

हालांकि, प्रेग्नेंसी में चाय बेहद ही सावधानी के साथ पीनी पड़ती है। क्योंकि, चाय में कैफीन की अधिक मात्रा होती है। जो आप और आपके शिशु के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डाल सकती है। ऐसे में आप रेगुलर चाय की जगह हर्बल टी का सेवन कर सकती हैं। हर्बल टी सेहत के लिए काफी लाभदायक होती हैं।

कैमोमाइल टी: कैमोमाइल एक तरह का पौधा होता है, जो स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फ्लेवोनाइड्स सभी प्रकार के संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। ऐसे में गर्भवती महिलाएं रात में सोने से पहले कैमोमाइल चाय का सेवन कर सकती हैं। इससे नींद भी अच्छी आएगी।

हालांकि, अति किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती है। ऐसे में कैमोमाइल चाय का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि, इसका ज्यादा सेवन करने से आपका गर्भाशय उत्तेजित हो सकता है। जो शिशु को नुकसान पहुंचा सकता है।

पुदीने की चाय: प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस और तनाव महसूस होता है। ऐसे में महिलाओं को चाय की तलब उठती है। लेकिन इस मॉर्निंग सिकनेस से छुटकारा पाने के लिए आप पुदीने से बनीं चाय का सेवन कर सकती हैं। इसकी खुशबू और मिन्ट, आपको तरोंताजा महसूस कराती है।

रास्पबेरी पत्तियों की चाय: प्रेग्नेंसी के दौरान रास्पबेरी पत्तियों की चाय सबसे अच्छी मानी जाती है। क्योंकि, इसमें विटामिन बी, कैल्शियम और मैग्निशियम की अच्छी-खासी मात्रा होती है। दूसरे तिमारी तक इसका नियमित तौर पर सेवन करने से मां की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। साथ ही यह महिलाओं में दूध की आपूर्ति को भी बढ़ावा देती है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को नियमित तौर पर रास्पबेरी की पत्तियों की चाय का सेवन करना चाहिए।

Next Stories
1 Fashion Tips: काजल को फैलने से रोकने के लिए अपनाएं ये उपाय, इन टिप्स को करें फॉलो
2 Eye Irritation: गर्मियों में आंखों की जलन-खुजली से निजात दिलाने में कारगर हैं ये घरेलू उपाय, जानिये
3 Hair Care: बाल हो गए हैं रूखे और बेजान तो ट्राई करें घर पर बने ये हेयर मास्क
यह पढ़ा क्या?
X