scorecardresearch

राजनीति में क्यों नहीं आए मुलायम के छोटे बेटे प्रतीक यादव, क्या परिवार ने डाला था कोई दबाव? जानिये

प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव ने हाल ही में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। प्रतीक राजनीति में नहीं है।

aparna yadav, prateek yadav, mulayam singh yadav, up elections
प्रतीक यादव को बिजनेस करने का शौक है। (इंडियन एक्सप्रेस)

मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बीच BJP ज्वाइन कर ली। अपर्णा के इस कदम को समाजवादी पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। आपको बता दें कि अपर्णा, मुलायम की दूसरी पत्नी साधना यादव के बेटे प्रतीक की पत्नी हैं। हालांकि प्रतीक यादव राजनीति में नही हैं। कई मौकों पर जब उनसे इसको लेकर सवाल किया गया तो प्रतीक ने दो-टूक कहा कि उनकी सियासत में खास दिलचस्पी नहीं है।

राजनीति में क्यों नहीं हैं प्रतीक यादव: मुलायम सरीखे ताकतवर नेता का बेटा होने के बावजूद आखिर प्रतीक यादव राजनीति में क्यों नहीं आए। खुद उन्होंने एक इंटरव्यू में इस सवाल का जवाब दिया था। ‘आजतक’ से बात करते हुए प्रतीक ने कहा था कि उनकी राजनीति में कोई रुचि नहीं है और वह शुरू से ही अपना बिजनेस करना चाहते हैं। प्रतीक यादव ने कहा था कि मेरा राजनीति की तरफ कभी झुकाव ही नहीं रहा कि मैं भी कुर्ता-पायजामा में रहूं और क्षेत्र में घूमूं। मुझे पहले से ही पता था कि मुझे बिजनेस ही करना है।

इसके बाद उनसे पूछा गया था कि आपके ऊपर घर में कभी दबाव नहीं बनाया गया कि आप पॉलिटिक्स में जाएं? इस पर प्रतीक ने कहा था कि मेरे ऊपर कभी किसी का दबाव नहीं रहा है और मेरे पूरे परिवार में सबको अपना प्रोफेशन चुनने की आजादी है। मेरे, अपर्णा (पत्नी), भाई साहब (अखिलेश) या फिर भाभी (डिंपल) के ऊपर कभी कोई दबाव नहीं रहा कि वह क्या करें।

लग्जरी गाड़ियों के हैं शौकीन: प्रतीक लग्जरी गाड़ियों के शौकीन हैं। साल 2017 में वे अपनी लेंबॉर्गिनी कार को लेकर चर्चा में आए थे। दरअसल, लखनऊ की सड़कों पर उनकी नीली रंग की लैंबॉर्गिनी कार खूब दौड़ी थी और विपक्ष ने इसी को लेकर यादव परिवार पर तंज कसा था। प्रतीक यादव ने सफाई देते हुए कहा था कि यह उनका 10 साल पुराना सपना था और उनका सपना 14 दिसंबर 2016 को पूरा हुआ था। प्रतीक ने बताया था कि कारों को लेकर उनका शौक है और वह 10 साल से लैंबॉर्गिनी कार का सपना पाले हुए थे।

लीड्स से की है पढ़ाई, रियल स्टेट का बिजनेस : प्रतीक यादव ने लीड्स से पढ़ाई की है। एक इंटरव्यू में प्रतीक ने बताया था कि उनकी फिटनेस में काफी रुचि है। वह अपने बिजनेस पर ध्यान देना चाहते हैं। बता दें कि प्रतीक यादव का रियल स्टेट का कारोबार है और वह अपना जिम भी चलाते हैं।

खोलना चाहते हैं जिम की चेन: प्रतीक यादव ने इंटरव्यू के दौरान ही बताया था कि उनका सपना है कि पूरे देश में उनकी जिम चेन हो और वह रियल इस्टेट में बड़ा नाम बन पाएं। अपना ज्यादा वक्त इसी को देते हैं।

पिछला चुनाव हार गई थीं अपर्णा: आपको बता दें कि अपर्णा यादव ने साल 2017 का विधानसभा चुनाव भी लड़ा था। वह लखनऊ कैंट सीट से चुनावी मैदान में उतरी थीं। अपर्णा ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट