scorecardresearch

Uric acid cure: किन लोगों को होता है High Uric Acid का खतरा, जानिए गाउट के लक्षण और बचाव के उपाय

गाउट आमतौर पर पैर के बड़े अंगूठे में शुरू होता है, लेकिन ये अन्य जोड़ों को प्रभावित कर सकता है।

Uric acid cure: किन लोगों को होता है High Uric Acid का खतरा, जानिए गाउट के लक्षण और बचाव के उपाय
गाउट की परेशानी उन लोगों को होती है जो डाइट में हाई प्रोटीन का सेवन करते हैं, जिनका मोटापा अधिक होता है। photo-freepik

यूरिक एसिड का बढ़ना एक ऐसी परेशानी है जिसके लिए खराब डाइट और बिगड़ता लाइफस्टाइल पूरी तरह से जिम्मेदार है। प्यूरीन से भरपूर डाइट का सेवन करने से बॉडी में यूरिक एसिड का स्तर तेजी से बढ़ने लगता है। आमतौर पर सभी की बॉडी में यूरिक एसिड बनता है और किडनी उसे फिल्टर करके यूरिन के माध्यम से बॉडी से बाहर भी निकाल देती है।

यूरिक एसिड बढ़ने पर जब किडनी इन टॉक्सिन को बॉडी से बाहर नहीं निकालती तो ये जोड़ों में क्रिस्टल के रूप में जमा होने लगते हैं जो गाउट का कारण बनते हैं। कई बार यूरिक एसिड किडनी तक में जमा होने लगते हैं और किडनी की कार्यप्रणाली को प्रभावित करता हैं। गाउट (Gout Pain)की वजह से पैरों और हाथों की उंगलियों और जोड़ों में चुभन वाला दर्द पैदा होता है। इस दर्द की वजह से उठना-बैठना तक मुश्किल हो जाता है।

गाउट गठिया का एक दर्दनाक रूप है। जब बॉडी में यूरिक एसिड (Uric Acid) क्रिस्टल के रूप में जमा होने लगता है तो वो सूजन और दर्द का कारण बनता है। गाउट आमतौर पर पैर के बड़े अंगूठे में शुरू होता है, लेकिन ये अन्य जोड़ों को प्रभावित कर सकता है। गाउट का इलाज संभव है। इस बीमारी का इलाज दवा और जीवनशैली में बदलाव से किया जा सकता है। आप भी गाठिया के दर्द से परेशान हैं तो उसका इलाज कीजिए और डाइट से उसे कंट्रोल कीजिए। आइए जानते हैं कि गाउट की परेशानी किन लोगों को होती है, उसके लक्षण कौन-कौन से हैं और उसका उपचार कैसे करें।

गाउट की परेशानी किन लोगों को ज्यादा होती है: (Who Is At Risk Of Gout)

आपको बता दें गाउट की परेशानी उन लोगों को होती है जो डाइट में हाई प्रोटीन का सेवन करते हैं, जिनका मोटापा अधिक होता है, पारिवारिक इतिहास, किडनी की बीमारियों और बार-बार सर्जरी होने से गठिया होने का खतरा अधिक होता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण: (uric acid symptoms):

जिन लोगों का यूरिक एसिड हाई रहता है उनकी बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण दिखने लगते हैं। हाथ-पैरों के जोड़ों में दर्द होना, जोड़ों और हड्डियों में सूजन होना, लालिमा दिखना, पैर के अंगूठे में बेहद दर्द होना शामिल है।

यूरिक एसिड कंट्रोल करने के उपाय: (Ways To Reduce Uric Acid)

अदरक से करें यूरिक एसिड का इलाज:

जिन लोगों की बॉडी में टॉक्सिन बढ़ने लगते हैं और गाउट की परेशानी ज्यादा होती है वो अदरक का इस्तेमाल करें। अदरक सूजन और दर्द को दूर करने में असरदार है। उबलते पानी में 1 चम्मच ताजा अदरक की जड़ मिलाकर उसका पेस्ट बना लें। उसे वॉश क्लॉथ में भिगोकर 15 से 30 मिनट के लिए प्रभावित जगह पर लगाएं दर्द से राहत मिलेगी।

मेथी दाना का सेवन करें:

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए मेथी दाना का सेवन बेहद असरदार साबित होता है। एक चम्मच मेथी दाना लें और उसे एक गिलास पानी में रात को भीगो दें और सुबह उठकर उस पानी का सेवन करें यूरिक एसिड कंट्रोल रहेगा।

दर्द की जगह मसाज करें:

गाउट के दर्द को दूर करने के लिए तेज से मसाज करें। मसाज करने के लिए सरसो का तेल या फिर अरंडी के तेल से मसाज करें। ये तेल प्रभावित जगह पर लगाने से दर्द से राहत दिलाएगा।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट