ताज़ा खबर
 

WheatGrass: त्वचा के लिए फायदेमंद हो सकता है गेहूं के घास का रस, घर पर भी कर सकते हैं तैयार

गेहूं के जवार में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के और बी मिलते हैं। इसके अलावा गेहूं का जवार पोटेशियम, आहार फाइबर, नियासिन, विटामिन बी 6, पैंटोथेनिक एसिड, लोहा, जस्ता, तांबा और सेलेनियम का भी बेहतरीन स्त्रोत माना जाता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

गेहूं के जवारे का रस आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। कई खनिज, विटामिन और जिगर एंजाइम से भरे गेहूं के जवार त्वचा रोग के लिए भी काफी फायदेमंद होते हैं। गेहूं के जवारे के रस को एक शक्तिशाली पेय पदार्थ के रुप में जाना जाता है। हम आपको बताते हैं कि गेहूं के जवार का रस आपकी त्वचा के लिए कैसे उपयोगी साबित हो सकता है।

गेहूं के जवार में होते हैं ये विटामिन:
गेहूं के जवार में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के और बी मिलते हैं। इसके अलावा गेहूं का जवार पोटेशियम, आहार फाइबर, नियासिन, विटामिन बी 6, पैंटोथेनिक एसिड, लोहा, जस्ता, तांबा और सेलेनियम का भी बेहतरीन स्त्रोत माना जाता है।

त्वचा के लिए है फायदेमंद:
-गेहूं का जवार त्वचा की कोशिकाओं को जल्दी से जल्दी पुनर्जीवित करने में काफी सहायक होता है। इसके अलावा मुंहासे और त्वचा के घावों का भी इससे इलाज किया जा सकता है।
-यह सूखे बालों और रूसी के लिए भी अच्छा माना गया है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सफेद बालों को रोकने में अहम माने जाते हैं।
-इस रस को पीने से शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं भी बढ़ती हैं। खून को साफ करने में यह काफी मददगार होता है। गेहूं के जवारे में मौजूद क्लोरोफिल रक्त में अधिक ऑक्सीजन देने में मदद करता है। यह कैंसर को रोकने, शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार लाने के लिए भी काफी उपयोगी है।
-एक खास बात यह भी है कि गेहूं के जवारे का रस अपने एंजाइम, अमीनो एसिड और विटामिन बी की सामग्री के कारण पाचन समस्या से पीड़ित लोगों को लाभ देता है। यह अल्सर, चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम, ईर्ष्या, और अपच का इलाज करने में मदद करता है।
गेहूं के जवारे में मौजूद विटामिन मानसिक स्वास्थ्य के लिए जहां फायदेमंद माना जाता है वही इससे वजन भी घटाया जा सकता है।

डॉक्टरों से जरूर लें सलाह:
हालांकि अब तक गेहूं के जवारे के रस के सेवन से किसी बड़े दुष्प्रभाव का कोई मामला सामने नहीं आया है। फिर भी अगर इस रस को लेने के बाद आपको सिरदर्द, एलर्जी, दस्त, कब्ज, सिर चकराना और थकान होना जैसे लक्षण दिखें तो तुरंत चिकित्सकों से सलाह जरूर लें। हो सके तो जूस के सेवन से पहले भी चिकित्सकों से सलाह-मशविरा कर लें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App