ताज़ा खबर
 

क्या वर्कआउट के वक्त चलाना चाहिए एसी? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

आपको ये बात ध्‍यान में रखनी चाहिए कि पसीना ज्यादा बहाने से ज्यादा कैलोरी बर्न नहीं होती है। पसीना तो बस शरीर से विषाक्‍त चीज़ों को बाहर निकाल देता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

हम जिम में काफी समय बिताते हैं और इस वजह से यहां हमारे कुछ दोस्‍त भी बन जाते हैं। हम हमेशा से ऐसी जगह की तलाश में रहते हैं जहां हमें सुविधा मिले। लेकिन क्या जिम में एयर कंडीशनर होना चाहिए या वर्कआउट के वक्त एसी चलाना चाहिए? फिटनेस फ्रिक लोगों के लिए यह एक बड़ा सवाल है। आमतौर पर हर जगह एसी लगा होता है चाहे वो कैफे हो, रेस्‍टोरेंट हो, शॉपिंग कॉम्‍प्‍लेक्‍स हो या कोई दूसरी सार्वजिनक जगह हो। लेकिन जिम में एसी होने या न होने को लेकर अक्सर लोग परेशान रहते हैं। आइए आज हम सेलेब्स फिटनेस ट्रेनर रणवीर अल्हाबादी से जानते हैं उनकी क्या है राय है। इससे पहले बता दें कि रणवीर यूट्यूब चैनल एआईबी के को-फाउंडर, कॉमेडियन तन्मय भट्ट के फिटनेस ट्रेनर रहे हैं। उन्होंने 19 महीने में करीब 109 किलो वजन कम करने में तन्मय की मदद की थी।

दरअसल, वर्कआउट के दौरान एसी का होने या न होने को लेकर रणवीर का मानना है कि वर्कआउट के वक्त एसी चलाना या न चलावा कोई मायने नहीं रखता। यह केवल एक सुविधा है। उनका कहना है कि वह लगभग हमेशा एसी स्टूडियो में काम करते हैं। ‘हमारे जैसे देश में, एसी के बिना काम करना बहुत मुश्किल है। गर्म तापमान में एसी के बिना काम करना ज्यादा हानिकारक हो सकता है।’ हालांकि अगर आप ऐसे तापमान में काम करते हैं जो आपके शरीर को बहुत गर्म करता है, तो आप यह कर सकते हैं’

एसी के होने या ना होने से वर्कआउट पर कोई असर नहीं पड़ता है। हालांकि वर्कआउट के वक्त ध्यान रखें की शरीर को ज्यादा ठंडा ना रखें। आपके आसपास के वातावरण का वर्कआउट पर ज्यादा असर नहीं पड़ता है। कुछ लोग ज्यादा से ज्यादा कैलोरी बर्न करने के लिए पसीना बहाते हैं। आपको ये बात ध्‍यान में रखनी चाहिए कि पसीना ज्यादा बहाने से ज्यादा कैलोरी बर्न नहीं होती है। पसीना तो बस शरीर से विषाक्‍त चीज़ों को बाहर निकाल देता है। अगर अपने आप ही आपके शरीर पर बहुत पसीना आता है तो आपको एसी वाले जिम में जाना चाहिए क्‍योंकि ज्यादा पसीना आने की वजह से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और त्‍वचा रोग उत्‍पन्‍न करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App