ताज़ा खबर
 

क्या आपको भी सोते समय लगते हैं झटके? जानिए क्यों होता है ऐसा

हिप्निक जर्क शरीर पर अचानक पड़ने वाला एक तरह का दबाव होता है जो आपको जगाना शुरु कर देता है। आपको गहरी नींद आने से पहले हिप्निक जर्क महसूस होते हैं। इन्हें स्लीप स्टार्ट भी कहते हैं।

सांकेतिक तस्वीर।

क्या आप अक्सर गहरी नींद से उठ जाते हैं? क्या आपको ऐसा लगता है कि आप किसी ऊंची बिल्डिंग से नीचे गिर रहे हैं? अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो हिप्निक जर्क की समस्या से परेशान हैं। इस परेशानी के कारण आप गहरी नींद नहीं ले पाते हैं जिससे आप नींद की कमी, तनाव और थकान जैसी समस्याओं का शिकार हो जाते हैं। आइए जानते हैं कि क्या होता है हिप्निक जर्क और इसके क्या संकेत होते हैं।

क्या होता है हिप्निक जर्क- यह शरीर पर अचानक पड़ने वाला एक तरह का दबाव होता है जो आपको जगाना शुरु कर देता है। आपको गहरी नींद आने से पहले हिप्निक जर्क महसूस होते हैं। इन्हें स्लीप स्टार्ट भी कहते हैं।

हिप्निक जर्क के कारण- ऐसा क्यों होता है उसका कारण साफ नहीं हैं लेकिन फिर भी हिप्निक जर्क के कई संभावित कारण हो सकते हैं।
तनाव और एंग्जायटी
कैफिन और निकोटिन, एल्कोहल का सेवन करने के कारण
सोने से थोड़ा पहले एक्सरसाइज करने से
नींद की कमी के कारण।
हिप्निक जर्क कोई बीमारी नहीं हैं और आमतौर पर बहुत से लोगों को ऐसा होता है इसलिए इसमें घबराने जैसा कुछ भी नहीं है।

हिप्निक जर्क के संकेत-
शरीर के किसी हिस्से में झटका लगना
खुद को गिरते हुए महसूस करना
किसी इमारत से कूदने का भ्रम होना या सपना आना।
सांसे बढ़ना
पसीना आना
धड़कने बढ़ना।

हिप्निक जर्क से बचने के लिए क्या करें-
कैफीन का सेवन कम करना चाहिए।
निकोटिन, एल्कोहल आदि मादक पदार्थ युक्त तत्वों का सेवन कम करना चाहिए।
सोने से तुरंत पहले एक्सरसाइज करने की बजाय थोड़ा पहले एक्सरसाइज करें।
सोने से पहले फोन का इस्तेमाल ना करें, बत्तीयां बुझा दें, खुद को रिलैक्स करने दें, अपनी ऊर्जा के इस्तेमाल को कम कर दें और फिर धीरे-धीरे आंखें बंद करें।
सोने से पहले 10 गिनें और गहरी सांसे लें और उठने के बाद गहराई से सांस छोड़ें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App