ताज़ा खबर
 

नाश्ते की इन 6 बातों का जरूर रखें ध्यान, कंट्रोल में रहेगा वजन

जूस में फाइबर की मात्रा नहीं होती। वहीं ताजे फलों में फाइबर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। ऐसे में सुबह के नाश्ते में फलों के जूस की बजाय फल खाना ज्यादा सेहतमंद होता है।

हमारी डाइट को लेकर एक कहावत है कि दिन का नाश्ता किसी राजा की तरह करना चाहिए और डिनर भिखारी की तरह। दरअसल, इस कहावत में अच्छी सेहत का बेहतरीन मंत्र छिपा हुआ है। सुबह का नाश्ता दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन है। नाश्ता ही हमारे मेटाबॉलिज्म को किकस्टार्ट करता है। ऐसे में इसमें खाए जाने वाली चीजों का चुनाव करते वक्त खास सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अपना नाश्ता चुनने में हममें से बहुत से लोग गलती कर जाते हैं। जिसका खामियाजा हमारी सेहत को भुगतना पड़ता है। नाश्ते में या तो हम बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर प्रोडक्ट्स लेने लगते हैं या फैट की असंतुलित मात्रा लेना शुरू कर देते हैं। ऐसे में जो लोग वजन कम करने की कोशिश में होते हैं उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। आज हम आपको 5 ऐसी गलतियों के बारे में बताने वाले हैं जो नाश्ते को लेकर हम करते हैं और जिससे सेहत संबंधी गंभीर समस्याओं की संभावना बढ़ती है।

जूस पीना – जूस में फाइबर की मात्रा नहीं होती। वहीं ताजे फलों में फाइबर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। ऐसे में सुबह के नाश्ते में फलों के जूस की बजाय फल खाना ज्यादा सेहतमंद होता है। इससे आपको बार-बार भूख नहीं लगती है। वजन को नियंत्रित रखने में यह काफी कारगर होता है।

प्रोटीन कम खाना – सुबह के नाश्ते में अगर आप प्रोटीन खाते हैं तो दिन भर आपको कम भूख लगती है। साथ ही रोजमर्रा के कामों के लिए पर्याप्त एनर्जी भी मिलती है। ऐसे में नाश्ते में प्रोटीन स्किप करना आपकी सेहत के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है।

कार्ब्स का न होना – संतुलित नाश्ते के लिए प्रोटीन और कार्ब्स दोनों पोषक तत्व अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। लोग नाश्ते में या तो कार्ब्स का सेवन करते हैं या प्रोटीन का। लेकिन एक आदर्श नाश्ता वह है जिसमें कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट भी हो और साथ ही उच्च जैविक मूल्यों वाला प्रोटीन भी शामिल हो। कॉम्पेक्स कार्ब्स शरीर में बिना फैट बढ़ाए एनर्जी की स्थिरता को मेंटेन रखने तथा ब्लड शुगर को स्थिर रखने में मददगार होते हैं।

नाश्ता स्किप कर देना – सुबह का नाश्ता न करना सेहत के साथ खिलवाड़ है। इससे मेटाबॉलिज्म बुरी तरह से प्रभावित होता है। सुबह का नाश्ता दिन भर में आपकी पाचन शक्ति की बेहतरी के लिए जिम्मेदार होता है। यह लो ब्लड शुगर लेवल को रोकने में मददगार होता है। नाश्ता करने से आप दिन भर एनर्जेटिक होकर काम कर सकते हैं। इससे थकान नहीं होती है।

देर से नाश्ता करना – नाश्ते का फायदा तभी है जब जागने के 1 घंटे के भीतर कर लिया जाए। नाश्ते में आप जो कुछ भी खाते हैं उससे आपके पूरे दिन का भोजन प्रभावित होता है। अगर आप रात में भारी भोजन करते हैं तो आप नाश्ता भी देर से करेंगे। साथ ही अगर आप देर से नाश्ता करते हैं तो आप दिन भर ज्यादा खाते हैं।

https://www.jansatta.com/lifestyle/weight-loss-gain-hindi/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App