ताज़ा खबर
 

रात में आधा घंटा कम सोना भी बढ़ा सकता है आपका वजन, जानिए कैसे

शोध के अनुसार ग्रेलिन हार्मोन का अधिक व लैप्टिन हार्मोन का कम होना वजन को बढ़ाता है। नींद पूरी न होने पर शरीर में लेप्टिन का स्तर कम हो जाता है।

प्रतीकात्मक चित्र

कोलंबिया मेडिकल सेन्टर के अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि 6 घंटे से कम की नींद कम से कम 700 जीन की गतिविधियों को प्रभावित करती है। ऐसे में डॉक्टर्स का 7-8 घंटे नींद लेने की बात कहना गलत नहीं है। अपर्याप्त नींद आपको मानसिक रूप से बीमार तो बनाता ही है, साथ ही यह आपकी फिटनेस को भी प्रभावित करता है। अपर्याप्त नींद आपका वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। आइए जानते हैं कैसे?

क्या है नींद और वजन का संबंध – शोध के अनुसार ग्रेलिन हार्मोन का अधिक व लैप्टिन हार्मोन का कम होना वजन को बढ़ाता है। नींद पूरी न होने पर शरीर में लेप्टिन का स्तर कम हो जाता है। यह हार्मोन शरीर को कम खाने का आदेश देता है। वहीं ग्रेलिन अधिक मात्रा में बनने लगता है। केवल एक रात की नींद पूरी न होना दिनभर खाने की ललक पैदा करता है। शोध कहते हैं कि अधिकतर नींद पूरी नहीं करने वाले लोग दूसरे लोगों की तुलना में 549 कैलोरी अधिक खाते हैं। शोध बताते हैं कि नींद पूरी न होने पर खून में टी-सेल रक्तकणों की कमी हो जाती है व साइटोकाइंस बढ़ जाते हैं। हर रोज 30 मिनट की नींद कम लेना मोटापे के खतरे को बढ़ा देता है। इंसुलिन की रक्त शर्करा को सामान्‍य रखने की क्षमता कम हो जाती है।

ज्यादा खाने से – अपर्याप्त नींद आपके शरीर में एंडोकैनाबिनोइड्स के लेवल को बढ़ा देता है। यह दिमाग में एक तरह का कंपाउड होता है जिसकी वजह से आपकी भूख बढ़ जाती है। ऐसे में हर समय कुछ खाने का मन करता रहता है। इस वजह से वजन बढ़ने लगता है।

बैक्टीरिया – नींद पूरी ना होने की वजह से पेट में बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ जाती है। जिसकी वजह से आपके पाचन तंत्र में गड़बड़ी आ जाती है। इससे आपके शरीर में बैड बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ जाती है जो आपके पेट को अस्वस्थ बनाता है। यह वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। साथ ही यह पाचन को भी कमजोर बनाता है।

मानसिक बीमार होने से – अगर आपकी नींद पूरी नहीं होती तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी काफी नुकसान पहुंचाता है। जब व्यक्ति की नींद पूरी नहीं होती है तो वह ज्यादा सोचता है और हर बात पर अचानक से प्रतिक्रिया देने लगता है। साथ ही इससे आपके खाने की इच्छा भी ज्यादा बढ़ जाती है। फलस्वरूप वजन बढ़ने लगता है।

हाई शुगर फूड्स की वजह से- जब आपकी नींद पूरी नहीं होती है तब आपमें मीठा खाने की इच्छा बढ़ जाती है। ऐसे में आप कम पोषण वाले और अनहेल्दी भोजन का सेवन करने लगते हैं। इससे वजन बढ़ने लगता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App