scorecardresearch

Neeraj Chopra Lifestyle: ओलंपिक के बाद बढ़ गया था नीरज चोपड़ा का वजन, चाय-कॉफी और चीनी को हाथ तक नहीं लगाते थे!

Neeraj Chopra Lifestyle, Neeraj Chopra News: भारत के गोल्डन ब्वॉय 24 वर्षीय नीरज अपने खेल के साथ अपनी फिटनेस को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं। आइए आज हम आपको बताते हैं, इस खिलाड़ी का फिटनेस और डाइट प्लान….

Neeraj Chopra Lifestyle: ओलंपिक के बाद बढ़ गया था नीरज चोपड़ा का वजन, चाय-कॉफी और चीनी को हाथ तक नहीं लगाते थे!
नीरज चोपड़ा। (सोर्स- ट्विटर/@WorldAthletics)

भारत के ‘गोल्डन बॉय’ नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर इतिहास रच दिया है। टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले भाला फेंकने वाले ने अमेरिका में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में देश को रजत पदक दिलाया। वह विश्व एथलेटिक्स में पदक जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष बन गए हैं। उनसे पहले अनुभवी एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज ने 2003 में ऐतिहासिक कांस्य पदक जीता था। नीरज ने चौथे दौर में 88.13 मीटर की भाला फेंक के साथ रजत पदक जीता था। ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स ने दूसरे दौर में 90.46 के भाला फेंक के साथ स्वर्ण पदक जीता।

नीरज चोपड़ा को ऐसे ही सफलता नहीं मिली है, इसके लिए उन्होंने काफी त्याग किया है। नीरज परिवार वालों के बीच काफी प्रिय रहे हैं। चूंकि नीरज संयुक्त परिवार में रहते हैं। उनके माता-पिता के अलावा तीन चाचा हैं। एक ही छत के नीचे रहने वाले 19 सदस्यीय परिवार में नीरज 10 चचेरे भाइयों में सबसे बड़े हैं।

पापा-चाचा ने सात हजार जोड़कर दिया भाला

नीरज को खेल में अगले स्तर तक पहुंचने के लिए वित्तीय सहायता की आवश्यकता थी जिसके लिए बेहतर उपकरण और बेहतर आहार की आवश्यकता थी। ऐसे में उनके संयुक्त किसान परिवार में 19 सदस्यीय परिवार में नीरज भाइयों में सबसे बड़े हैं। ऐसे में वह परिवार के भी चहेते हैं। परिवार की हालत ठीक नहीं थी और उसे डेढ़ लाख रुपये का भाला नहीं मिल सका। पिता सतीश चोपड़ा और चाचा भीम ने किसी तरह सात हजार रुपये जोड़कर अभ्यास के लिए भाला लाकर दिया।

जूनियर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाकर सुर्खियों में

नीरज साल 2016 में जूनियर विश्व चैंपियनशिप में 86.48 मीटर के अंडर -20 विश्व रिकॉर्ड के साथ ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने के बाद सुर्खियों में आए और फिर उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2017 में सेना में भर्ती होने के बाद नीरज ने कहा था कि हम किसान हैं, परिवार में किसी के पास सरकारी नौकरी नहीं है और मेरा परिवार बड़ी मुश्किल से मेरा साथ देता आ रहा है। लेकिन अब यह राहत की बात है कि मैं अपना प्रशिक्षण जारी रखने के अलावा अपने परिवार का आर्थिक रूप से समर्थन करने में सक्षम हूं।

बिना कोच के वीडियो देख बने जैवलिन थ्रोअर

जीवन में उतार-चढ़ाव का सिलसिला चलता रहा और एक समय ऐसा भी आया जब नीरज के पास कोच नहीं था। लेकिन नीरज ने हार नहीं मानी और यू-ट्यूब चैनल के विशेषज्ञों के सुझावों का पालन करते हुए अभ्यास के लिए मैदान में पहुंच जाते। वीडियो देखने से उनकी कई कमियां दूर हो गईं। इसे खेल के प्रति उनका जुनून कहें कि जहां भी उन्हें सीखने का मौका मिला, उन्होंने उसे जल्दी से हासिल कर लिया।

वजन कम करने के लिए थामा था भाला

हालांकि, नीरज का खेल से जुड़ाव एक दिलचस्प तरीके से शुरू हुआ। संयुक्त परिवार में रहने वाले नीरज बचपन में काफी मोटे थे और परिवार के दबाव में उन्होंने वजन कम करने के लिए खेलों में भाग लिया। वह 13 साल की उम्र तक काफी शरारती थे। उनके पिता सतीश कुमार चोपड़ा बेटे को अनुशासित करने के लिए कुछ करना चाहते थे।

काफी समझाने के बाद नीरज दौड़ने के लिए तैयार हुए ताकि वजन को कम किया जा सके। उनके चाचा उन्हें गांव से 15 किमी दूर पानीपत के शिवाजी स्टेडियम में ले गए। नीरज को दौड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं थी और लेकिन जब उन्होंने स्टेडियम में खिलाड़ियों को भाला फेंक का अभ्यास करते देखा तो उन्हें भी इस खेल से प्यार हो गया। उन्होंने इसमें हाथ आजमाने का फैसला किया और अब वह एथलेटिक्स में देश के सबसे बड़े खिलाड़ियों में से एक बन गए हैं।

प्रीतियोगिता से पहले छोड़ दी अपनी फेवरेट चीज

नीरज चोपड़ा अपनी फिटनेस और डाइट पर खास ध्यान देते हैं। हालांकि, उन्हें मिठाई पसंद थी। खासतौर पर घर का चूरमा उनका फेवरेट है, इसके अलावा पानी पूरी के भी बेहद शौकीन हैं। लेकिन वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप से 6 महीने पहले उन्होंने मिठाई खाना पूरी तरह से छोड़ दिया था।

नीरज चोपड़ा का ऐसा है डाइट प्लान

नीरज के हेल्दी डाइट की बात करें तो वह एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान अपना डाइट प्लान (खासकर टूर्नामेंट के दौरान) भी शेयर किए थे। उन्होंने बताया था कि मैच के दिनों में वह कुछ भी ज्यादा वसायुक्त नहीं खाते हैं। वह सलाद या फल जैसी चीजें खाना पसंद करते हैं। नीरज को ग्रिल्ड चिकन ब्रेस्ट और अंडे जैसी चीजें खाना भी पसंद है। वह हफ्ते में कभी भी रोटी और ऑमलेट खाते हैं। आमलेट और रोटी ऐसी चीजें हैं जो वह किसी भी अन्य की तुलना में अधिक बार खाते हैं। करीब एक साल पहले नीरज ने अपने डाइट प्लान में भी कुछ बदलाव किए थे।

नीरज ने अपने डाइट प्लान में सालमन फिश को शामिल किया है। नीरज अपनी रिकवरी के लिए ताजे फलों का जूस पीते हैं। खास बात यह है कि वह डिब्बाबंद जूस नहीं पीते हैं। इसके बजाय वह ताजे फलों का जूस पीते हैं। सामान्य दिनों में नीरज वर्कआउट के बाद दो गिलास ताजा जूस पीते हैं। उनके डाइट प्लान में नमकीन चावल भी शामिल हैं।

नीरज चोपड़ा खुद को ऐसे रखते हैं फिट

नीरज चोपड़ा अपनी फिटनेस का बहुत ख्याल रखते हैं। इसके लिए वह कोर वर्कआउट के अलावा कई तरह की एक्सरसाइज करते हैं। वह अपने फिटनेस वीडियो भी अपने इंस्टाग्राम पर शेयर करते रहते हैं।

हाल ही में उन्होंने अपना वीडियो शेयर किया है। जिसमें वह ऊंची छलांग लगाते नजर आ रहे थे। ओलंपिक 2020 के बाद उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वह अपने शरीर पर पट्टी बांधते नजर आ रहे थे। इतना ही नहीं वह रोजाना दौड़ भी लगाते हैं। जिम में नीरज वेट लिफ्टिंग के साथ-साथ डंबल फ्रंट और साइड रेज एक्सरसाइज करते हैं। इससे उनके हाथ और कंधे मजबूत होते हैं।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट