ताज़ा खबर
 

Valentine Day 2018: जानिए कौन थे संत वेलेंटाइन और वेलेंटाइन डे मनाए जाने के पीछे की पूरी कहानी

Happy Valentines Day 2018: रोम के राजा क्लॉडियस का मानना था कि गैर-शादीशुदा सैनिक शादीशुदा सैनिकों की तुलना में अच्छे योध्दा साबित होते हैं। इसलिए उन्होंने रोम में सैनिकों के शादी करने पर प्रतिबंध लगा दिया था।
Author नई दिल्ली | February 14, 2018 11:10 am
Happy Valentine Day 2018: वेलेंटाइन डे रोम के एक पादरी वेलेंटाइन की याद में मनाया जाता है।

Happy Valentine Day 2018: 14 फरवरी को दुनिया भर में वेलेंटाइन डे के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन प्यार करने वाले जोड़े एक-दूसरे के साथ समय बिताते हैं और गिफ्ट देते हैं। इसलिए युवाओं में वेलेंटाइन डे को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिलता है। वेलेंटाइन डे को ध्यान में रखते हुए दुनिया भर के बाजार तमाम तरह के गिफ्ट्स से पट जाते हैं। प्रेमी जोड़े इस दिन अपने पार्टनर को प्यारा सा गिफ्ट देकर इसे यादगार बनाना चाहते हैं। इसे देखते हुए समाज का एक तबका वेलेंटाइन डे को मजह बाजार द्वारा खड़ा किया गया डे बताते हैं। इन सबके बीच क्या आप जानते हैं कि वेलेंटाइन डे क्यों और किसकी याद में मनाया जाता है। अगर नहीं, तो हम आपको बता रहे हैं पूरी कहानी।

वेलेंटाइन डे रोम के एक पादरी वेलेंटाइन की याद में मनाया जाता है। बताया जाता है कि तीसरी सदी में क्लॉडियस नाम के एक राजा रोम में शासन करते थे। क्लॉडियस अपने देश की सैन्य क्षमता को लेकर बहुत ही गंभीर थे। क्लॉडियस का मानना था कि गैर-शादीशुदा सैनिक शादीशुदा सैनिकों की तुलना में अच्छे योध्दा साबित होते हैं। इसलिए उन्होंने रोम में सैनिकों के शादी करने पर प्रतिबंध लगा दिया। इस प्रतिबंध से रोम के सैनिक बेहद परेशान थे और इस अमानवीय प्रतिबंध को खत्म कराना चाहते थे।

कहा जाता है कि संत वेलेंटाइन नाम के एक पादरी को राजा क्लॉडियस का यह आदेश बिल्कुल भी पसंद नहीं था। वेलेंटाइन ने रोम के सैनिकों को इस आदेश को ना मानने के लिए प्रेरित करना शुरू कर दिया। इसके साथ ही संत वेलेंटाइन ने देश के कई सैनिकों की शादी भी कराई। राजा क्लॉडियस को जब इस बारे में पता चला तो वह संत वेलेंटाइन पर बहुत ही क्रोधित हुआ। राजा ने वेलेंटाइन को फांसी की सजा देने का फरमान सुना दिया। राजा के फरमान पर संत वेलेंटाइन को 14 फरवरी के दिन फांसी दे दी गई। रोम के लोगों को संत वेलेंटाइन को फांसी देना बिल्कुल भी सही नहीं लगा। रोम की जनता ने संत वेलेंटाइन की फांसी के दिन (14 फरवरी) को हर साल प्यार के दिन के रूप में सेलिब्रेट करना शुरू कर दिया। आगे चलकर 14 फरवरी को दुनिया भर में वेलेंटाइन डे के रूप में सेलिब्रेट किया जाने लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.