अगर कोई हिंदू है और आतंकवादी है, उसके बारे में भी यही कहेंगे आप? योगी आदित्यनाथ से रजत शर्मा ने पूछा सवाल तो मिला था ऐसा जवाब

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से एक इंटरव्यू में आतंकवाद को लेकर सवाल किया गया था। रजत शर्मा के इस सवाल पर ये दिया था सीएम योगी ने जवाब।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Photo Source – PTI)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। योगी लगातार समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर निशाना साध रहे हैं। हाल ही में सीएम योगी ने बिना नाम लिए समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव, बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती और कांग्रेस पर तीखा हमला बोला था। सीएम योगी ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव को ‘बबुआ’ तो मायावती को ‘बहन जी’ कहकर संबोधित किया था। आरोप-प्रत्यारोप के बीच योगी आदित्यनाथ का वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा के साथ एक पुराना इंटरव्यू वायरल हो रहा है।

वायरल हो रहे इंटरव्यू में रजत शर्मा ने योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछा था, ‘अगर कोई हिंदू और आतंकवादी है, तो वो मासूम लोगों को मारता है तो क्या उसके बारे में भी आपकी ऐसी ही राय होगी?’ इसके जवाब में उन्होंने कहा था, ‘हिंदू पहले आतंकवादी बिल्कुल नहीं हो सकता है। मैं इस बात की गारंटी ले सकता हूं। अगर वो गलत है तो आप भारत के कानून के तहत उसके ऊपर ही कार्रवाई करिये। किसने रोका है आपको? क्योंकि उसकी ये मातृभूमि है।’

रजत शर्मा कहते हैं, ‘ऐसी बात का कोई सिर-पैर नहीं है। पिचली सरकार ने कई ऐसे लोगों को पकड़ा था, जो भगवा वस्त्र पहनकर आतंकवाद फैलाते थे। इस साध्वी प्रज्ञा और असीमानंद को भी गिरफ्तार किया गया था।’ इसके जवाब में उन्होंने कहा था, ‘साध्वी प्रज्ञा और असीमानंद का नाम चार्जशीट में अचानक सरकार बदलने के बाद जोड़ा जाता है। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था। पहले मुजाहिद्दीन के आतंकी इस मामले में गिरफ्तार किये गए थे। यूपी में लोग बिजली के लिए मर रहे हैं, सड़कें खराब हैं, लेकिन कब्रिस्तान के लिए हर साल 300 करोड़ आवंटित हो जाएंगे।’

योगी आदित्यनाथ ने कहा था, ‘हम संसाधन देते समय बिल्कुल जाति, मजबर के आधार पर भेदभाव नहीं करेंगे, लेकिन ऐसा भी बिल्कुल नहीं होने देंगे कि तुष्टिकरण किया जाए और किसी विशेष वर्ग को इसका फायदा दिया जाए। हम भारत के लोगों का अपमान बिल्कुल नहीं सहेंगे। अगर किसी को इस देश में रहना है तो पहले उसे भारत के कानून पर विश्वास करना होगा और इसे मानना होगा। यहां सबका स्वागत होगा। लेकिन भारत में रहकर ये बिल्कुल नहीं चलेगा कि तन भारत में और मन पाकिस्तान में। मोदी जी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। 10 साल बाद ऐसा कोई प्रधानमंत्री आया है।’

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।