scorecardresearch

Uric Acid: यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में रामबाण से कम नहीं ये हरा पत्ता, दर्द हो जाएगा गायब

यूरिक एसिड अत्यधिक मात्रा शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां लाती है। आइये जानते हैं कि क्या होता है यूरिक एसिड, इसको कम कैसे करें-

Gout | Arthritis | Uric Acid
गाउट वाली स्थिति में सुबह अंगूठे के जॉइंट में सूजन आने लगती है और अंगूठा लाल हो जाता है। (Image: Freepik)

यदि यूरिक एसिड का स्तर बहुत अधिक हो जाता है तो उस स्थिति को हाइपरयूरिसीमिया कहा जाता है। यूरिक एसिड के बढ़ने से शरीर की विभिन्न मांसपेशियों में सूजन आ जाती है, जिससे दर्द होने लगता है और यह दर्द बढ़ने लगता है, इससे गठिया नामक रोग हो सकता है जो जोड़ों में दर्द का कारण बनता है। यह रक्त और मूत्र को अम्लीय भी बना सकता है।

यूरिक एसिड बढ़ने की वजह से तमाम समस्याएं होने लगती हैं। पैर के पंजे-जोड़ों में दर्द, गठिया का दर्द असहनीय हो जाता है। एक्सपर्ट कहते हैं कि यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए नियंत्रित खानपान और नियमित एक्सरसाइज के साथ डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयों का सेवन तो जरूरी है ही, साथ ही लक्षणों पर बारीकी से नजर रखने की भी आवश्यकता होती है। डॉक्टर कहते हैं कि कई बार हम यूरिक एसिड के कई लक्षणों को नजरअंदाज कर देते हैं जो आगे चलकर किडनी स्टोन जैसी गंभीर समस्या पैदा कर सकते हैं।

इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

डॉक्टरों के मुताबिक यूरिक एसिड बढ़ने पर घुटने और पैरों में अकड़न महसूस होने लगती है। कई बार तो पैर मोड़ने में भी परेशानी होती है। इसके अलावा पंजों में सूजन आ जाती है। कई बार पंजे लाल हो जाते हैं। इन लक्षणों को कतई नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

क्या है यूरिक एसिड बढ़ने की वजह?

डॉक्टरों के मुताबिक यूरिक एसिड बढ़ने की सबसे बड़ी वजह में से एक है ऐसा खानपान जिसमें प्यूरिन की मात्रा ज्यादा होती है। जैसे अधिक चीनी वाले खाद्य पदार्थ, अल्कोहल आदि। ऐसे फूड से तुरंत दूरी बना लेनी चाहिए। इसके अलावा नियमित एक्सरसाइज करनी चाहिए। अगर आपका वजन ज्यादा है तो वजन कंट्रोल करने पर ध्यान दें। तनाव कम लें, खाने में ज्यादा से ज्यादा फाइबर युक्त भोजन शामिल करें।

हाल ही में हुई एक रिसर्च के मुताबिक अगर आप अपनी डाइट में नियमित पान का पत्ता शामिल करें तो यूरिक एसिड को कंट्रोल किया जा सकता है। इस रिसर्च में कुछ चूहों को पान के पत्ते का अर्क दिया गया था, इससे उनका यूरिक एसिड लेवल घट गया। पहले लेवल 8.09mg/dl था कम होकर 2.02mg/dl हो गया। यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि पान का पत्ता किस तरीके से यूरिक एसिड को घटाने में मददगार है।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X