ताज़ा खबर
 

डैंड्रफ से हैं परेशान तो इन आयुर्वेदिक तरीकों से पा सकते हैं राहत

डैंड्रफ होने की कई वजह हो सकती हैं जैसे तनाव, फंगल इंफेक्शन, सिर में अधिक पसीना आना, बालों तक जरूरी पोषक तत्वों का न पहुंच पाना और हॉर्मोन्स में बदलाव।

Author September 3, 2018 11:00 AM
प्रतीकात्मक चित्र

डैंड्रफ एक ऐसी समस्या है जो महिला और पुरुषों दोनों को होती है। इसके बढ़ने से चेहरे, माथे, गर्दन और पीठ आदि पर एक्ने की समस्या भी हो सकती है। शुरूआत में यह स्कॉल्प की ऊपरी परत पर होती है, लेकिन धीरे-धीरे यह इसकी भीतरी तहों तक पहुंच जाती है। दरअसल, डैंड्रफ हमारे सिर की त्वचा में स्थित मृत कोशिकाओं से पैदा होती है। इसकी वजह से सिर में खुजली होती है और बाल गिरने लगते हैं। डैंड्रफ होने की कई वजह हो सकती हैं जैसे तनाव, फंगल इंफेक्शन, सिर में अधिक पसीना आना, बालों तक जरूरी पोषक तत्वों का न पहुंच पाना और हॉर्मोन्स में बदलाव। आइए आज हम आपको डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक तरीकों के बारे में बताते हैं।

नीम: नीम की पत्तियों में कीटाणु नाशक , एंटी फंगल, रोगाणु रोधक सूजन और जलन विरोधी तत्वों पाए जाते हैं। यह गुण डैंड्रफ को दूर करने में काफी असरदार होते हैं। नीम का इस्तेमाल करने के लिए नीम की पत्तियों को पानी में उबालें और इस पानी को बाल धोने में इस्तेमाल करें।

तुलसी: सभी जानते हैं कि तुलसी में आरोग्य गुण होते हैं, कई तरह के इंफेक्शन से निजात पाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता रहा है। वहीं डैड्रफ होने पर तुलसी की पत्तियों के साथ आंवला पाउडर कारगर साबित होता है। इन दोनों को पानी में मिक्स करके पेस्ट बना लें और सिर की मसाज करें। आधे घंटे तक लगा रहने दें। बाद में पानी से धो दें।

दही: खट्टी दही के इस्तेमाल से भी रूसी को दूर किया जा सकता है। इसके लिए दही से सिर की मसाज करें और 30 मिनट के बाद बाल धो लें।

बेसन: बेसन के इस्तेमाल से डैंड्रफ भी दूर होगा और बालों में चमक भी आएगी। इसे इस्तेमाल करने के लिए 2 चम्मच बेसन में 1 चम्मच दही मिलाकर लेप बनाएं और इसे सिर की त्वचा पर लगाएं। 10 मिनट के बाद पानी से सिर को धो लें।

नींबू: डैंड्रफ को दूर करने के लिए नींबू का रस काफी कारगर साबित होता है। नींबू का एसिड रूसी को रगड़ कर साफ कर देता है। इसके अलावा खाने-पीने का खासा ध्यान रखना जरूरी होता है। ऐसे में खूब पानी पीना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App