ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली मेट्रो के लिए जान से ज्‍यादा कीमती सामान? छत पर यात्रा की तुलना में प्रॉपर्टी से छेड़छाड़ पर 10 गुना ज्‍यादा है जुर्माना

दिल्ली मेट्रो के कई ऐसे नियम भी है, जिन्हें जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

मेट्रो रेल के फर्श पर बैठने या गंदगी फैलाने पर यात्री से 200 रूपये का जुर्माना वसूला जाता है।

हर रोज दिल्ली मेट्रो में लाखों यात्री सफर करते हैं, लेकिन इस दौरान वो कई गलतियां कर देते हैं जो कि उन्हें मेट्रो परिसर में नहीं करनी चाहिए। दिल्ली मेट्रो के कई ऐसे नियम हैं जिनका उल्लंघन करने पर यात्री को ना सिर्फ जुर्माना देना पड़ सकता है जबकि उन्हें सजा भी हो सकती है। हालांकि दिल्ली मेट्रो के कई ऐसे नियम भी है, जिन्हें जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। आइए जानते हैं दिल्ली मेट्रो के उन नियमों के बारे में, जिनके बारे में जानकर आप जुर्माने से बच सकते हैं।

मेट्रो की छत पर यात्रा करना- ये तो आप सब जानते होंगे कि दिल्ली मेट्रो में गंदगी करना या फोटोग्राफी करना अपराध है, लेकिन क्या आप जानते हैं मेट्रो की छत पर यात्रा करना भी अपराध है। सबसे खास बात ये है कि इस अपराध का जुर्माना महज 50 रुपये है और हो सकता है आपको ऐसा करने पर गाड़ी से निकाला भी जा सकता है।

मेट्रो में प्रदर्शन करना- मेट्रो में किसी चीज को लेकर प्रदर्शन करना भी अपराध है और इसकी सजा है आपको प्रदर्शन में भाग लेने नहीं दिया जाएगा। साथ ही अगर आप मेट्रो में कुछ चिपकाने की कोशिश कर करते हैं तो आपको डिब्बे से बाहर निकाला जा सकता है। वहीं अगर बाहर जाने से मना करता है तो उसपर 500 रुपये जुर्माना लगाया जा सकता है।

शराब पीकर यात्रा करना- मेट्रो में शराब पीना या शराब पीकर उपद्रव करना, किसी से झगड़ा करना गैर कानूनी है। ऐसा करने पर सीआरपीएफ या मेट्रो कर्मचारी 200 रूपये का जुर्माना वसूलते हैं या गाड़ी से उतार भी सकते हैं।

मेट्रो की पटरी पर चलना- अगर कोई मेट्रो की पटरियों पर या किसी अवैध स्थान पर पाया जाता है तो उसपर 150 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।

देखें- जनसत्ता स्पीड न्यूज

मेट्रो रेल के फर्श पर बैठने या गंदगी फैलाने पर यात्री से 200 रूपये का जुर्माना वसूला जाता है।

अगर कोई यात्री मेट्रो में आपत्तिजनक सामान ले जाता हुए पकड़ा जाता है तो 200 रूपये का जुर्माना लिया जाता है।

वहीं महिलाओं के लिए आरक्षित डिब्बे में यात्रा करना भी आपके लिए महंगा पड़ सकता है।

वहीं मेट्रो कर्मचारी की ड्यूटी में बाधा डालने पर आपसे 500 रूपये का जुर्माना वसूला जा सकता है।

बिना टिकट या पास के यात्रा करने पर 50 रूपये का अधिभार लिया जाता है साथ ही अधिकतम किराया भी वसूला जाता है। वहीं अगर आप टिकट की राशि से ज्यादा की यात्रा कर लेते हैं तो आपको किराए के अंतर की राशि का भुगतान करना होता है।

मेट्रो के सूचना साधनों से छेड़छाड़ करना या अलार्म का दुरुपयोग करने पर 500 रूपये का जुर्माना वसूला जाता है। वहीं मेट्रों की प्रोपर्टी से कुछ छेड़छाड़ करने पर भी 200 रूपये का जुर्माना है।

मेट्रो रेल में अनाधिकृत रूप से कोई भी वस्तु बेचना अपराध है और इसके लिए 400 रूपये का जुर्माना भरना पड़ता है।

वहीं टिकट की बिक्री करना भी अपराध है, इसके लिए 200 का जुर्माना देना होता है और आपकी टिकट भी ले ली जाती है।

(यह जानकारी दिल्ली मेट्रो की वेबसाइट से ली गई है।)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अगर आधार कार्ड में बदलना है पता या जन्म तारीख, तो घर बैठे ऐसे बदलें
2 धनतेरस पूजा विधि: जानिए घर पर कैसे करें धनतेरस की पूजा
3 धनतेरस 2016: इस तरह पूजा करने पर मिलेगा डबल लाभ, पढ़ें कब है सबसे शुभ मुहूर्त