ताज़ा खबर
 

दिन भर में की गईं ये गलतियां बन सकती हैं स्किन डैमेज का कारण, हेल्दी त्वचा के लिए बदलें ये आदतें

Tips to avoid Skin Damage: स्किन का टाइप कुछ भी हो, लेकिन उसे मॉइश्चराइज करना आवश्यक है। इससे त्वचा में दरार नहीं आती है

Skin Care, Skin Care Tips, tips for glowing skin, skin care routineचेहरे को बार-बार साफ करना भी स्किन के लिए कई बार नुकसानदेह साबित हो सकता है

Skincare Tips: आज की खराब जीवन-शैली व अनहेल्दी खानपान के कारण स्किन डैमेज होने की परेशानी बढ़ गई है। पिंपल्स, कील-मुंहासे, ब्लैकहेड्स, पिगमेंटेशन जैसी कई समस्याएं आए दिन लोगों को परेशान करती हैं। जहां लोग अपनी खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए लाखों तरीके अपनाते हैं वहीं, एक पिंपल आपके चेहरे को बिगाड़ने के लिए काफी है। कई बार तो चेहरे पर किए गए ब्यूटी उत्पाद और ब्यूटी ट्रीटमेंट्स के कारण भी चेहरा इतना सेंसेटिव हो जाता है कि उस पर बार-बार पिंपल्स निकल आते हैं। लोग इनसे छुटकारा पाने के लिए तमाम तरीके अपनाते हैं। पर रोज की ये गलतियां भी स्किन डैमेज की वजह बनती हैं-

एक जैसी नहीं होती है चेहरे की त्वचा: अक्सर लोग ये मानकर बैठे होते हैं कि चेहरे के हर हिस्से की त्वचा एक समान ही होती है। इस कारण लोग हर जगह की त्वचा को एक जैसे ही आंकते हैं। इसी भूल के कारण स्किन पर नेगेटिव प्रभाव पड़ता है। त्वचा विशेषज्ञों के अनुसार हर तरह की स्किन को डील करने का तरीका अलग होता है। ऐसे में जिस जगह की स्किन जैसी हो, उसी प्रकार का स्किनकेयर प्रोडक्ट इस्तेमाल करना चाहिए। गर्दन व आंखों के आसपास की स्किन पतली होती है। वहीं, मुंह के इर्द-गिर्द की त्वचा खुश्क और सेंसेटिव होती है।

ज्यादा साफ करना भी डेंजरस: चेहरे को बार-बार साफ करना भी स्किन के लिए कई बार नुकसानदेह साबित हो सकता है। इससे स्किन डैमेज होने के साथ ही रफ और ड्राय भी हो सकता है। साथ ही, स्किन पर गलत ब्यूटी उत्पादों का इस्तेमाल भी हानिकारक है।

गर्म पानी कम करें यूज: गर्म पानी का चेहरे पर ज्यादा इस्तेमाल भी खतरनाक हो सकता है। इसे यूज करने से स्किन पोर्स खुल जाते हैं। इस कारण चेहरे में मौजूद मॉइश्चर लगभग उड़ जाता है। इससे स्किन ड्राय और सेंसेटिव हो जाती है। इसके साथ ही, एलर्जी और पिंपल्स का खतरा भी बढ़ता है।

सिर्फ ब्यूटी ही नहीं डाइट भी जरूरी: हेल्दी डाइट से हेल्दी स्किन का भी कनेक्शन होता है। ऐसे में स्वस्थ त्वचा के लिए लोगों का आहार भी बेहतर होना चाहिए। जंक फूड, बैड फैट, मैदा, चीनी युक्त खाद्य पदार्थ, ज्यादा प्रेजर्वेटिव व कोल्ड ड्रिंक का सेवन करने से बचें। वहीं, हरी सब्जी, फाइबर से भरपूर खाने को डाइट में शामिल करें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कौन हैं रवीश कुमार के भाई बृजेश पांडेय, जानिये कितनी संपत्ति के हैं मालिक
2 लालू-नीतीश से लेकर जीतन राम मांझी तक, जानिये- कितने पढ़े-लिखे हैं बिहार के इन नेताओं के बेटे
3 आखिर तक अपने पास मोबाइल नहीं रखते थे राम विलास पासवान लेकिन बेटे चिराग को दी हर सहूलियत, वजह भी बताई थी
यह पढ़ा क्या?
X