These can cause damage due to overuse of perfume - परफ्यूम का रोजाना इस्तेमाल करने वाले सावधान, हो सकते हैं ये नुकसान! - Jansatta
ताज़ा खबर
 

परफ्यूम का रोजाना इस्तेमाल करने वाले सावधान, हो सकते हैं ये नुकसान!

परफ्यूम का अधिक इस्तेमाल करने से हमारी स्किन को काफी नुकसान पहुंचता है। ऐसे बहुत से परफ्यूम हैं जिनमें न्यूरो टोक्सिन मौजूद होते हैं, जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर बुरा असर करते हैं। इसके अलावा परफ्यूम के अधिक इस्तेमाल से स्किन पर घातक बैक्टीरिया पनप सकते हैं, जिसकी वजह से स्किन एलर्जी, रैशेज या घाव भी हो सकते हैं।

सांकेतिक तस्वीर।

पसीने की बदबू से निजात पाने के लिए परफ्यू या डियो का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ लोग शरीर की अच्छी खुशबू के लिए भी परफ्यूम या डियो का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आप परफ्यूम से होने वाले नुकसान के बारे में जानते हैं। आइए आज हम आपको परफ्यूम के रोजाना इस्तेमाल से शरीर को होने वाले नुकसान के बारे में बताते हैं। इसके अधिक इस्तेमाल से स्किन इन्फेक्शन के अलावा हार्मोन्स के संतुलन पर भी प्रभाव पड़ता है। वहीं प्रेग्नेंसी के दौरान भी परफ्यूम के इस्तेमाल से नुकसान हो सकते हैं।

परफ्यूम से हो सकते हैं ये नुकसान :

–  परफ्यूम का अधिक इस्तेमाल करने से हमारी स्किन को काफी नुकसान पहुंचता है। ऐसे बहुत से परफ्यूम हैं जिनमें न्यूरो टोक्सिन मौजूद होते हैं, जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर बुरा असर करते हैं। इसके अलावा परफ्यूम के अधिक इस्तेमाल से स्किन पर घातक बैक्टीरिया पनप सकते हैं, जिसकी वजह से स्किन एलर्जी, रैशेज या घाव भी हो सकते हैं।

– परफ्यूम में शरीर के होर्मोन्स को भी हानिकारक साबित हो सकता है। केमिकल युक्त परफ्यूम का इस्तेमाल करने से हार्मोन्स असंतुलित हो सकते हैं, जिससे आपकी सेहत भी खराब हो सकती है। इसके अलावा महिलों को पीरियड्स के दिनों में परेशानी हो सकती है।

– गर्मियों के मौसम में पसीना आना आम बात होती है और कई बार पसीना आना शरीर के लिए अच्छा माना जाता है। लेकिन कुछ परफ्यूम पसीने को आने से रोकते हैं जिससे शरीर में आर्सेनिक, कैडमियम, लीड और मरकरी जैसे तत्व इकट्ठा हो सकते हैं। इन सभी तत्वों का शरीर में जमा होना हानिकारक होता है।

– परफ्यूम न केवल पसीने के ग्लैंड को प्रभावित करते हैं बल्कि शरीर की टॉक्सिफ‌िकेशन की साधारण प्रक्रिया को भी नुकसान पहुंचाते हैं।

– केमिकल युक्त परफ्यूम से अल्जाइमर होने का खतरा बढ जाता है। इसके अलावा परफ्यूम या डियो का ज्यादा इस्तेमाल करने से सांस संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

– जिन परफ्यूम या डियो की स्मैल काफी तेज होती है, वो नाक के तंतुओं लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं। इस वजह से भी सांस संबंधी परेशानी हो सकती है।

– प्रेग्नेंसी के दौरान भी परफ्यूम का इस्तेमाल काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है। प्रेग्नेंट महिला द्वारा इस्तेमाल किया गया तेज स्मैल वाला परफ्यूम बच्चे की सेहत पर बुरा असर डाल सकता है।

सावधानियां :

– परफ्यूम का इस्तेमाल करते समय ध्यान रखें की परफ्यूम की स्मैल ज्यादा तेज न हो।

– पार्टी के लिए निकलने से 10 या 15 मिनट पहले ही परफ्यूम का इस्तेमाल करना सही रहता है।

– परफ्यूम का इस्तेमाल करते वक्त ध्यान रखें कि परफ्यूम का इस्तेमाल सीधा बॉडी पर न करें, कपड़ों पर परफ्यूम का इस्तेमाल करना सही रहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App