ताज़ा खबर
 

The Kapil Sharma Show की एक्ट्रेस जूझ रही हैं एंडोमेट्रियोसिस के चौथे स्टेज से! जानिए क्या हैं इसके लक्षण और इलाज

The Kapil Sharma Show की एक्ट्रेस सुमोना चक्रवर्ती ने बताया कि वो Endometriosis से साल 2011 से जूझ रही हैं और सही लाइफस्टाइल से खुद को स्वस्थ रखती हैं। आज हम आपको एंडोमेट्रियोसिस के बारे में बता रहे हैं-

सुमोना चक्रवर्ती Endometriosis के चौथे स्टेज से जूझ रही हैं (Photo-Sumona Chakravarti/Instagram)

हाल ही में जब The Kapil Sharma Show की एक्ट्रेस सुमोना चक्रवर्ती ने यह खुलासा किया कि वो एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) नामक बीमारी के चौथे स्टेज से जूझ रही हैं तो उनके चाहने वाले परेशान हो गए थे। सुमोना ने बताया कि वो इस बीमारी से साल 2011 से जूझ रही हैं और सही लाइफस्टाइल से खुद को स्वस्थ रखती हैं। आज हम आपको एंडोमेट्रियोसिस के बारे में बता रहे हैं-

क्या होता है एंडोमेट्रियोसिस- महिलाओं में होने वाली यह बीमारी गर्भाशय से जुड़ी है। लगभग 40 फीसदी महिलाओं में इस बीमारी की वजह से गर्भधारण में दिक्कत आती है। इस बीमारी में गर्भाशय की लाइनिंग बनाने वाले उत्तक से मिलता हुआ एक उत्तक गर्भाशय की गुहा के बाहर बनने लगता है। महिलाओं में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण उस क्षेत्र में दर्द और जलन की समस्या होने लगती है।

एंडोमेट्रियोसिस के लक्षण – इस बीमारी के लक्षण हर महिला में अलग हो सकते हैं। कुछ महिलाओं में बेहद हल्के लक्षण नजर आते हैं तो कुछ महिलाओं में तीव्र लक्षण। जैसे –

मासिक धर्म के दौरान दर्द होना

मासिक धर्म के कुछ दिनों पहले ही ऐंठन महसूस होना

माहवारी में अधिक रक्तस्राव का होना और माहवारी के बीच रक्तस्राव होना

मल त्याग में परेशानी होना

माहवारी के दौरान कमर और पेट के निचले हिस्से में दर्द होना

इंटरकोर्स के दौरान दर्द का होना

फर्टिलिटी का प्रभावित होना और गर्भधारण में परेशानी होना।

 

इस बीमारी का खतरा हर उम्र वर्ग की महिलाओं को होता है। सामान्यतः 25 से 40 उम्र वर्ग की महिलाओं को यह बीमारी प्रभावित करती है जिसके लक्षण प्यूबर्टी की शुरुआत में ही दिखने लगते हैं। इस बीमारी को चार स्टेज में बांटा गया है जिसमें स्टेज 4 सबसे खतरनाक माना जाता है।

 

क्या है एंडोमेट्रियोसिस का इलाज – इस बीमारी के इलाज के लिए दवाइयों और सर्जरी का सहारा लिया जाता है। अगर आप दर्द से राहत पाना चाहते हैं तो इसके लिए नियमित व्यायाम करें और स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं। कई बार डॉक्टर प्रभावित उत्तक को निकाल देने का परामर्श देते हैं। लेप्रोस्कोपिक और ओपन सर्जरी द्वारा भी इसका इलाज संभव है।

Next Stories
1 Black Fungus: मुंह के जरिए भी फैल सकता है ब्लैक फंगस, जानिये एक्सपर्ट्स की राय
2 दांतों से पीलापन दूर कर चमक बढ़ाने में कारगर हैं ये घरेलू उपाय, इस तरह करें इस्तेमाल
3 कोरोना काल में खुद को स्वस्थ रखने का क्या है बेस्ट तरीका? बता रहीं हैं माधुरी दीक्षित; देखें Video
ये पढ़ा क्या?
X