ताज़ा खबर
 

Tarak Mehta ka Ulta Chashma: कभी चेहरे के रंग की वजह से ‘अय्यर’ को झेलना पड़ा था अपमान, अब कुछ ऐसी है लाइफस्टाइल

'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में अय्यर का रोल तनुज महाशब्दे निभा रहे हैं। उन्हें चेहरे के रंग के कारण अपमान भी झेलनी पड़ी और किसी शो में इन्हें जल्दी कोई रोल भी नहीं मिलता था। आइए जानते हैं इनकी लाइफ से जुड़ी कुछ जरूरी और दिलचस्प बातें-

Tarak Mehta ka Ulta Chashma, Iyer aka Tanuj Mahashabde, tarak mehta ka ulta chashma cast, tarak mehta ka ulta chashma videos, tarak mehta ka ulta chashma song, tarak mehta ka ooltah chashmah latest episodeजानिए तनुज महाशब्दे के लाइफ से जुड़ी दिलचस्प बातें

टीवी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ (Tarak Mehta ka Ulta Chashma) एक ऐसा कॉमेडी शो है जो हर उम्र के लोग देखना पसंद करते हैं। इस शो के सारे किरदारों की एक्टिंग काफी अलग है और लोग उन्हें बेहद पसंद भी करते हैं। इस शो के किरदार अय्यर ने इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बना ली है। दरअसर अय्यर का असल नाम तनुज महाशब्दे (Tanuj Mahashabde) है। बता दें कि इनकी लाइफ काफी स्ट्रगल वाली रही है। चेहरे के रंग के कारण कई बार इन्हें अपमान भी झेलना पड़ा। किसी भी शो में इन्हें जल्दी कोई रोल भी नहीं मिलता था। आइए जानते हैं इनकी लाइफ से जुड़ी कुछ जरूरी और दिलचस्प बातें-

क्यों नहीं मिलता था कोई किरदार: भास्कर के मुताबिक, तनुज महाशब्दे को बचपन में अपने रंग के कारण यमराज का रोल करने को मिलता था। रंग के कारण ही उन्हें कोई और किरदार निभाने का मौका नहीं मिलता था। लेकिन फिर भी तनुज ने हार नहीं मानी और ना ही कभी उनका कॉन्फिडेंस कम हुआ। इसी उम्मीद और हिम्मत के कारण वह मुंबई भी गए। ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में अय्यर का रोल मिलने के बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। तुनज महाशब्दे यानी मिस्टर अय्यर सीरियल में बबिता अय्यर यानी मुनमुन दत्ता के पति का किरदार निभा रहे हैं। बबिता सीरियल की वह कैरेक्टर हैं, जिस पर जेठालाल हमेशा फ़िदा रहते हैं।

थिएटर से की थी शुरुआत: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, तनुज इंदौर में थिएटर कर चुके हैं। उनका ऐसा मानना है कि किसी भी एक्टर के लिए थिएटर करना बेहद जरूरी होता है और इससे बेस अच्छा होता है। इतना ही नहीं थिएटर करने से कॉन्फिडेंस भी आता है और फिर इंसान किसी भी रोल को कर पाता है। तनुज ने मुंबई में सात-आठ साल तक केवल थिएटर किया है, जिसमें मराठी और हिन्दी नाटक शामिल हैं।

तनुज का जन्म कहा हुआ है: रिपोर्ट्स के अनुसार, 24 जुलाई 1974 को तनुज महाशब्दे का जन्म मध्यप्रदेश के देवास शहर में हुआ। उन्होंने अपनी एक्टिंग इंदौर से शुरू की। उनको पहली उपलब्धी भारती विध्या भवन कला केंद्र से मिली जहां वो नाटक में काम किया करते थे। इसके बाद वो मुंबई निकल गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Happy Buddha Purnima 2020 Wishes, Images, Quotes, Messages: अपनों को भेजकर ये संदेश दें बुद्ध पूर्णिमा की ढेर सारी शुभकामनाएं
2 Rabindranath Jayanti 2020 Quotes, Images, Status: रवींद्रनाथ की जयंती के मौके पर अपनों के साथ शेयर करें ये कोट्स और दें शुभकामनाएं
3 जनसत्ता युवा अवसर: सोशल मीडिया के जुनून को बनाएं भविष्य
ये पढ़ा क्या?
X