scorecardresearch

Swami Vivekanad Punyatithi 2022: ‘मेरे अमेरिकी बहनों और भाईयों…’ स्वामी विवेकानंद के ये 5 शब्द बन गए इतिहास, पढ़ें- प्रेरणादायी विचार

Swami Vivekananda Punyatithi 2022, स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार जीवन में ऊर्जा और जोश का संचार करते हैं।

Swami Vivekananda, Swami Vivekananda Death Anniversary, Swami Vivekananda Death Anniversary 2022,
विवेकानंद ने अमेरिका के शिकागो में आयोजित विश्व धर्म संसद में ऐतिहासिक भाषण दिए और अपने जोशपूर्ण भाषणों से युवाओं में काफी लोकप्रिय भी हुए। File Photo

आज यानि 4 जुलाई को स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि है। आज ही के दिन 4 जुलाई 1902 को 39 वर्ष की उम्र में उनकी आसमयिक मृत्यु हुई थी। आज के दिन को स्वामी विवेकानंद स्मृति दिवस के तौर पर मनाया जाता है। उनके जीवन और उनके संदेश युवाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। आध्यात्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में हुआ था। स्वामी विवेकानंद ने 25 साल की उम्र में ही मोह माया को छोड़कर सन्यास ले लिया था।

स्वामी विवेकानंद का नाम नरेंद्रनीथ दत्त था. वह शुरू से ही योगियों के स्वाभ के थे और छोटी उम्र से ही ध्यान करते थे। स्वामी विवेकानंद ने गुरु रामकृष्ण परमहंस के नेतृत्व में आध्यात्म की शिक्षा ली और वो प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु बन गएं। विवेकानंद ने अपने गुरु के नाम पर एक मई 1897 में कोलकाता में रामकृष्ण मिशन की स्थापना की। मिशन की स्थापना का उद्देश्य वेदांत दर्शन का प्रचार-प्रसार और सेवा करना है।

विवेकानंद ने अमेरिका के शिकागो में आयोजित विश्व धर्म संसद में ऐतिहासिक भाषण दिए और अपने जोशपूर्ण भाषणों से युवाओं में काफी लोकप्रिय भी हुए। स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार जीवन में ऊर्जा और जोश का संचार करते हैं। अपने विचारों से लोगों की जिंदगी को रोशन करने वाले स्वामी विवेकानंद भारत के महान पुरुषों में से एक है। उनका बेहद साधारण जीवन और उनके महान विचार सभी के लिए प्रेरणास्रोत हैं।

उन्होंने राज योग, कर्म योग, भक्ति योग, ज्ञान योग, माई मास्टर, कोलंबो से अल्मोड़ा तक व्याख्यान आदि पुस्तकों में अपने विचार लिखकर भारत की प्राचीन योग अवधारणा पर भी प्रकाश डाला है। 39 साल की कम उम्र में ही उनकी मृत्यु हो गई लेकिन आज भी उनके लेख और कोट्स युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं। स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि पर आप भी उनके कुछ कोट्स और उनके विचारों को एक दूसरे के साथ शेयर करके जीवन के लिए आवश्यक सबक ले सकते हैं।

स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि

सबसे बड़ा धर्म है अपने स्वभाव के प्रति सच्चा होना। स्वयं पर विश्वास करो।
स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि

किसी दिन जब आपके सामने कोई समस्या न आए, आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं।
स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि

जो तुम सोचते हो वो हो जाओगे।
यदि तुम खुद को कमजोर सोचते हो, तुम कमजोर हो जाओगे,
अगर खुद को ताकतवर सोचते हो तुम ताकतवर हो जाओगे।
स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि

किसी दिन आपके सामने कोई समस्या ना आए तो
आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं
स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी।
स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.