ताज़ा खबर
 

ट्रेन में हुई थी पहली मुलाकात; वाजपेयी पहुंचे थे आशीर्वाद देने; दिलचस्प है सुशील मोदी और जेसिस जॉर्ज की शादी की कहानी

सुशील मोदी पहली बार जेसिस जार्ज से ट्रेन में मिलें थे, वहीं से दोनों की बातचीत शुरू हुई जो प्यार में बदली और बात शादी तक जा पहुंची।

sushil kumar modi, sushil kumar modi love story, sushil modi wifeबिहार के डिप्टी चीफ मिनिस्टर सुशील कुमार मोदी

बिहार में चुनावी सरगर्मियां तेज हैं। एनडीए और महागठबंधन ने विधानसभा चुनाव जीतने के लिए पूरे जोर लगा दिए हैं। चुनाव से ठीक पहले भाजपा नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। सुशील कुमार मोदी काफ़ी समय‌ से बिहार के उपमुख्यमंत्री हैं। राजनीतिक जीवन के अलावा सुशील कुमार मोदी का निजी जीवन भी बेहद दिलचस्प है। उन्होंने जेसिस जार्ज से प्रेम विवाह किया है। जेसिस जार्ज रोमन कैथोलिक ईसाई हैं।

दरअसल बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की मुंबई से दिल्ली लौटते वक्त जेसिस जार्ज से मुलाकात हुई थी। उस वक्त सुशील कुमार मोदी पटना विश्वविद्यालय के छात्र और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सक्रिय सदस्य थे। इसी ट्रेन में इतिहास से पीएचडी कर रहीं जेसिस जार्ज एक ट्रिप पर कश्मीर जा रही थीं।  ट्रेन में सुशील कुमार मोदी की जेसिस जार्ज से मुलाकात हुई और धीरे-धीरे दोनों में प्यार हो गया।

सुशील कुमार मोदी ने लल्लनटॉप को एक इंटरव्यू में बताया था, ‘वो मुंबई में एक स्कूल में पढ़ाती थीं और हम लोग ट्रेन से यात्रा कर रहे थे। मैं एबीवीपी के काम से मुंबई से लौट रहा था और वो उसी कोच में उपर के बर्थ पर थीं, वो कश्मीर जा रही थीं किसी बर्ड वाचिंग प्रोग्राम के लिए। 36 घंटे की इसी लंबी यात्रा में दोनों का परिचय हुआ और फिर बातचीत बढ़ती चली गई। इसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया।’

 

अटल बिहारी वाजपेयी भी पहुंचे थे शादी में- बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की शादी में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी पहुंचे थे। सुशील मोदी ने इंटरव्यू में बताया था,’ अटल जी से मेरा ज्यादा परिचय नहीं था। मैंने शादी के लिए अटल जी को पोस्टकार्ड डाल दिया, यह सोचकर नहीं डाला था कि वो शादी में आएंगे।’

सुशील कुमार मोदी ने आगे कहा, ‘मैं तो आश्चर्यचकित हो गया जब अटल जी का जवाब आया कि मैं आपकी शादी में आ रहा हूं। ‘ इतना ही नहीं अटल बिहारी वाजपेयी ने शादी के बाद मंच से सुशील कुमार मोदी को भाजपा में काम करने के लिए आमंत्रित किया था। अटल बिहारी वाजपेयी के अलावा संघ के बड़े पदाधिकारी नानासाहेब देशमुख, भाऊराव देवरस भी शादी में मौजूद रहे।

घरवालों ने विवाह का नहीं किया था विरोध- सुशील कुमार मोदी ने बताया था कि उनके घरवालों ने अंतर-धार्मिक विवाह पर कोई ऐतराज नहीं किया था। वो (परिवार वाले) तो बस यही चाहते थे कि मैं शादी कर लूं। इस मामले में घर के लोग प्रगतिशील थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बदलते मौसम में स्किन के रूखेपन से हैं परेशान? अपनाएं ये घरेलू उपाय
2 लेक्चरर बनने से लेकर राजनीति का सफ़र; जानिए किसके कहने पर उपेन्द्र ने लगाना शुरू किया अपने नाम में ‘कुशवाहा’
3 सुबह जल्दी जगने में होती है परेशानी? इन 5 तरीकों से करें बॉडी क्लॉक में सुधार
यह पढ़ा क्या?
X