जब धोनी, रैना और पठान ने मिलकर लगा दिया था राहुल द्रविड़ को ‘चूना’, अब तक नहीं भूले हैं वो किस्सा

पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना अपनी जीवनी “बिलीव” में एक घटना का जिक्र किया है, जब राहुल द्रविड को तीन खिलाड़ियों ने ‘चूना’ लगा दिया था।

Suresh Raina, MS Dhoni
सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी (Photo- Indian Express)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को सबसे सफल कप्तान कहा जाता है। धोनी की कप्तानी में भारत ने कई मैच जीते हैं, जिसका श्रेय सिर्फ धोनी को ही जाता है। यह वजह है कि कई बार फैन्स सोशल मीडिया पर धोनी की टीम में वापसी की मांग करते रहते हैं। टीम में थोड़ा बदलाव किया गया है और राहुल द्रविड को हेड कोच की जिम्मेदारी दी गई है। पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना अपनी जीवनी “बिलीव” में एक घटना का जिक्र किया है, जब राहुल द्रविड को तीन खिलाड़ियों ने ‘चूना’ लगा दिया था।

सुरेश रैना लिखते हैं, ‘मैं खाने को बहुत आराम से खाता हूं। माही भाई और अन्य खिलाड़ी अक्सर चिकन ही ऑर्डर करते थे। मैं मैदा भी नहीं खाता हूं क्योंकि घर पर हम लोग इसकी जगह रागी की रोटी खाते थे। मेरी आदत हमेशा से वही बनी रही। कई बार मैं ठंडा खाना भी खाया करता था क्योंकि मुझे खाना आने के बाद कई बार वर्कआउट करने के लिए जाना होता था। लेकिन मैं बाद में वापस आकर उसे खाता था। भले ही वह खाना ठंडा क्यों न हो गया हो। खाने के नाम से मुझे एक किस्सा याद आता है जब राहुल द्रविड हमारे कप्तान थे और हम लोग पाकिस्तान के टूर पर गए हुए थे।’

बकौल सुरेश रैना, राहुल द्रविड ने इस दौरान हमें कहा, ‘बॉयज, जो भी खाने का मन हो ऑर्डर कर दो। खर्चा मेरा।’ उस लापरवाही भरे बयान के लिए उन्हें काफी आर्थिक हानि भुगतनी पड़ी थी। इस कारस्तानी में मैं, इरफान, रोबिन और माही भाई शामिल थे। आइडिया धोनी का था। उन्होंने बस रूम सर्विस को कॉल किया और हमने जो भी ऑर्डर किया था उसको दोगुनी मात्रा में भेजने के लिए कह दिया। दो मिल्क शेक, एक एक्स्ट्रा बिरयानी, दो एक्स्ट्रा रोटी, दो दालें, दो और सब्जियां। हमें देखकर राहुल बाई की हंसी नहीं रुक रही थी।’

सुरेश रैना ने आगे लिखते हैं, ‘आखिर में उन्होंने माना कि उन्होंने अपना सबक सीख लिया है और आगे से वह कभी भी रूम सर्विस के मामले में हमें खुले हाथ से खाने का ऑर्डर देने की छूट नहीं देंगे। हालांकि, हमने जितना मंगाया था, वो सारा खाना खा भी लिया। दूसरों के पैसों पर, इस तरह की मौज-मजे मैंने और माही भाई ने कई बार की है। किसी और की टांग खींचनी हो तो हम दोनों एक पेट हो जाते थे। लेकिन कई बार उन्होंने बंदूक की नली मेरी और भी मोड़ दी है और कई बार इसका शिकार मैं भी बना हूं।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट