scorecardresearch

कैल्शियम की कमी दूर करता है गर्मियों का ये साग, शुगर मरीजों के लिए है बेहद फायदेमंद

इसके पत्ते हड्डियों के स्वस्थ विकास और ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद करने के लिए कैल्शियम की आपूर्ति करते हैं।

भारत में तमाम प्रकार की सब्जियां पैदा होती है और अलग-अलग मौसम में इनको खाया जाता है। सब्जियों के मामले में भारत हमेशा से संपन्न रहा है। इसकी वजह से स्वाद का आनंद और जरूरी पोषण केवल इन सब्जियों को ही खाकर लिया जा सकता है। इन्हीं सब्जियों में एक सब्जी है चौलाई, जिसे लाल भाजी भी कहते हैं। यह हड्डियों के लिए खास तौर पर असरकारक होता है। यह गर्मियों में उगाई जाती है।

चौलाई में कैल्शियम और विटामिन-ए काफी पाया जाता है। शुगर के मरीजों के लिए तो यह बेहद फायदेमंद है। उन्हें अपने आहार में इसे जरूर शामिल करना चाहिए। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मिनरल्स और आयरन भी इसमें खूब रहता है। इस सब्जी को खाने से आपके पेट और कब्ज संबंधी किसी भी प्रकार के रोग में लाभ मिलेगा। इसकी सबसे बड़ी विशेषता है इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखना, ऐसा इसमें पाया जाने वाले प्रोटीन और विटामिन सी की वजह से होता है।

चौलाई का रस गठिया, रक्तचाप और हृदय रोगियों के लिए काफी लाभदायक माना गया है। पेट के रोग, कब्ज और बाल गिरने पर चौलाई की सब्जी खाना लाभदायक होता है। चौलाई के पत्तों के प्रमुख फायदों में एक मानव में रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने की उनकी क्षमता है। उच्च फाइबर सामग्री होने के कारण, वह रक्त में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में प्रभावी होते हैं। चौलाई के पत्तों में उपलब्ध एक प्रकार का विटामिन ई टोकोट्रिएनोल्स भी इसकी कोलेस्ट्रॉल कम करने की क्षमता में योगदान देता है।

चौलाई के पत्ते हड्डियों के स्वस्थ विकास और ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद करने के लिए कैल्शियम की आपूर्ति करते हैं। एक आवश्यक अमीनो एसिड लाइसिन और विटामिन ई, लोहा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम और विटामिन सी की उपस्थिति मुक्त कणों से लड़ने में मदद करती है, जो कैंसर का कारण भी बन सकते हैं।

चौलाई एकमात्र ऐसा पौधा हैं जिसके अंदर सोने की मात्रा पाई जाती हैं। इसकी वजह से इसका इस्तेमाल कई प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों में किया जाता है। इसके पौधे के सभी भाग जड़, तना, पत्ती, डंठल उपयोगी होते हैं। चौलाई की खास विशेषता यह है कि यह गर्मी के साथ जाड़े में भी खाया जाता है। इसलिए इसके फायदे हर मौसम में लिए जा सकते हैं।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट