ताज़ा खबर
 

आपके रिश्तों को बर्बाद भी कर सकता है सोशल मीडिया, रखना होगा इन बातों का ध्यान

जो लोग डिनर के वक्त भी मोबाइल फोन इस्तेमाल करते हैं आप गलती कर रहे हैं। टेक्नोलॉजी हमारे लिए बहुत फायदेमंद है, लेकिन इसका इस्तेमाल आपको बड़ी आसानी से दोस्तों और रिश्तेदारों से अलग कर देता है।

प्रतीकात्मक चित्र

टेक्नॉलीजि के विकास से हमें बहुत फायदे हुए हैं तो नुकसान भी हुए हैं। आज के समय में सोशल मीडिया अधिकांश लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुका है। लेकिन हाल में सामने आई एक स्टडी से पता चला है कि सोशल नेटवर्किंग किसी रिश्ते में असंतोष का कारण बन सकती है। जब आपका साथी आपसे ज्यादा सोशल नेटवर्किंग साइट पर समय बिताता है तो आपकी भावनाओं को ठेस पहुंचती है। ऐसे में इसका दुष्‍प्रभाव यह होता है कि व्‍यक्ति खुद को उपेक्षित महसूस करने लगता है और उसके अंदर नेगेटिविटी अधिक नजर आने लगती है।

अगर आपका भी पार्टनर स्मार्टफोन और सोशल मीडिया पर ज्यादा वक्त दे रहा है जिस वजह से आप खुद को अकेला महसूस कर रहे हैं तो आप ऐसा महसूस करने वाले आप अकेले नहीं हैं। जाने माने लेखक रयान ड्वियर के अध्ययन के मुताबिक जो लोग डिनर के वक्त भी मोबाइल फोन इस्तेमाल करते हैं आप गलती कर रहे हैं। टेक्नोलॉजी हमारे लिए बहुत फायदेमंद है, लेकिन इसका इस्तेमाल आपको बड़ी आसानी से दोस्तों और रिश्तेदारों से अलग कर देता है। आप अपने जीवन के स्पेशल मूवमेंट भी मिस कर देते हैं।

मनोचिकित्सक रिपन सिप्पी ने के मुताबिक सोशल मीडिया पर मिलने वाली झूठी या आधी-अधूरी कहानियों के प्रभाव में आकर लोग अपने साथी से अव्यावहारिक अपेक्षाएं पाल लेते हैं यानी वे अपने साथी से ऐसी-ऐसी उम्‍मीदें करने लगते हैं, जिन्‍हें पूरा करना प्रेक्टिकल नहीं होता। साथ ही उन पर उसी तरह की अवास्तविक जीवन पद्धति अपनाने का दबाव डालने भी लगते हैं।

सोशल साइटों का ज्‍यादा इस्तेमाल करने से किसी रिश्ते की सबसे अहम बातों, जैसे विश्वास, निजी राय और वैयक्तिक स्वतंत्रता में कमी आती है। आशिमा ने कहा कि किसने, किसकी, कौन सी तस्वीर शेयर की, किसने कहां और क्या कमेंट किया और यहां तक कि सोशल साइटों पर निजी चैट जैसी बातें संबंधों को खत्म करने वाली साबित होती हैं।” सोशल मीडिया अपने आप में कोई विलेन नहीं है, लेकिन आप यदि इसे अपनी जिंदगी में ज्यादा अहमियत देंगे तो निश्‍चय ही ये विलेन का ही रोल अदा करेगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App