ताज़ा खबर
 

आपके सोने की पोजिशन भी डालती है स्किन पर असर, जानिए कैसे

पेट के बल चेहरे के किसी एक भाग को तकिये पर रखकर सोने से चेहरे के एक हिस्से की त्वचा पर काफी दबाव पड़ता है। घर्षण और गालों की हड्डियों पर दबाव से चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं।

प्रतीकात्मक चित्र।

आम तौर पर लोग अपने बिस्तर पर अलग-अलग पोजिशन में सोते हैं। लेकिन कई बार बेड पर गलत पोजिशन में सोने का असर हमारे स्किन पर भी पड़ता है। गलत पोजिशन में सोने पर मुंहासे और झुर्रियों की समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा आंखों में सूजन और आंखों के नीचे गड्ढे की समस्या भी इससे उत्पन्न होती है। कई चिकित्सकों का मानना है कि अच्छी और सेहतमंद नींद के लिए जरूरी है कि हम अपने सोने के पोजिशन पर खास ध्यान दें।
बिस्तर पर पीठ के बल सोना हमेशा फायदेमंद होता है। बिस्तर पर 20-30 डिग्री के एंगल पर सोने से आपके चेहरे पर दबाव नहीं पड़ता है।

कई बार लोग बिस्तर पर एक साइड में पेट के बल सोते हैं और अपने चेहरे को तकिये के काफी नजदीक रखते हैं। लेकिन ऐसी अवस्था में सोने पर इस बात का डर होता है कि तकिये के कवर में मौजूद कई तरह के बैक्ट्रिया आपके चेहरे पर जाएंगे। इसलिए जरूरी है कि आप अपने तकिये के कवर को नियमित रुप से साफ करते रहें वरना कवर की गंदगी आपके चेहरों पर झुर्रियों की वजह भी बन सकती है।

कई लोग बिस्तर पर पेट के बल सोते हैं। लेकिन इस पोजिशन में सोना हमारे लिए बेहद खतरनाक होता है। दरअसल जब हम गहरी नींद में होते हैं तो हमारी स्किन को सांस लेने की जरूरत पड़ती है। जबकी अगर हम अपने पूरे चेहरे को तकिये पर रख देंगे तो इससे चेहरे के स्किन्स दब जाएंगे। इससे चहेरे पर झुर्रियां और मुहांसे निकलने की आशंका भी बढ़ जाती है। इतना ही नहीं इससे आंखों के नीचे गड्ढे और आंखों में सूजन की समस्या भी होती है।

पेट के बल चेहरे के किसी एक भाग को तकिये पर रखकर सोने से चेहरे के एक हिस्से की त्वचा पर काफी दबाव पड़ता है। घर्षण और गालों की हड्डियों पर दबाव से चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं। अगर आप अपने चेहरे पर कोई स्किन क्रीम लगाते हैं तो इस पोजिशन में सोने पर यह क्रीम आपके तकिये पर फैल जाएगा। पीठ के बल सोना बेहतर पोजिशन माना जाता है। वजह यह है कि इस पोजिशन में आप अपने चेहरे पर ज्यादा दबाव नहीं देते। जिसकी वजह से झुर्रियां नहीं पड़तीं और अब जवां दिखते हैं। तकिये के कवर पर लगी गंदगी भी आपके चेहरे पर नहीं आती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App