ताज़ा खबर
 

एक्जिमा की समस्या के हैं शिकार तो नीम का करें इस प्रकार इस्तेमाल

Neem for Eczema: एक्जिमा त्वचा संबंधी एक बीमारी है जिसमें त्वचा पर लाल रैशेज हो जाते हैं और खुजली होती है। इसके इलाज के लिए लोग अलग-अलग तरीके अपनाते हैं। एक्जिमा के उपचार के लिए नीम का प्रयोग भी काफी प्रभावी है।

एक्जिमा के लिए नीम का इस्तेमाल करें (Source: Dreamstime)

Neem for Eczema: एक्जिमा एक इंफ्लेमेट्री स्किन डिजीज है जिसमें त्वचा पर अत्यधिक खुजली होती है। एक्जिमा के कारण त्वचा फट जाती है और साथ ही दरारें भी पड़ने लगती हैं। यह कई तरह का हो सकता है। इसका उपचार काफी लंबे समय तक चलता है। एक्जिमा की समस्या को जल्द से जल्द ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए वरना आपकी स्किन बुरी तरीके से प्रभावित हो सकती है। प्राकृतिक तरीकों में नीम एक्जिमा के उपचार में काफी प्रभावी माना जाता है। तो आइए जानते हैं कि नीम एक्जिमा के इलाज में किस तरह फायदेमंद है।

प्राकृतिक रुप से त्वचा को मुलायम करता है:
एक्जिमा के उपचार के लिए जरुरी है कि आप त्वचा को रुखा ना होनें दे। नीम प्राकृतिक रुप से त्वचा को पोषण देता है, इसलिए त्वचा रोग विशेषज्ञ भी एक्जिमा में नीम का तेल लगाने की सलाह देते हैं। नीम का तेल संपूर्ण उपचार के बाद भी लगाया जाना चाहिए ताकि भविष्य में कभी इस तरह की कोई समस्या ना हो।

एंटी-इंफ्लेमेट्री कारक:
नीम में प्राकृतिक रुप से एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जिससे ये त्वचा के लालीपन को कम करता है और इससे त्वचा की सूजन भी कम होती है।

एनाल्जेसिक प्रॉपर्टी:
नीम में प्राकृतिक रुप से एनाल्जेसिक गुण होते हैं, इसलिए एक्जिमा के उपचार के लिए नीम की क्रीम का उपयोग किया जाता है जो कि एक्जिमा से तुरंत आराम दिलाता है साथ ही इसके दर्द को भी कम करता है।

नेचुरल एंटी-सेफ्टीक:
जब त्वचा एक्जिमा से बहुत ज्यादा ग्रस्त हो जाती है तो ये संक्रामक हो जाता है। ऐसे में नीम में मौजूद एंटी-माइक्रोबैक्टीरियल इसे फैलने से रोकता है। प्रभावित हिस्से पर नीम का तेल लगाएं।

(और Lifestyle News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X