X

बरसात की नमी में बढ़ जाता है चेहरे पर पिंपल्स होने का खतरा, इन 5 तरीकों से रखें त्वचा का ध्यान

बरसात के मौसम में वातावरण में काफी नमी होती है। यह नमी आपके चेहरे के लिए सही नहीं होती। इस वजह से चेहरे पर मुहांसे आदि की समस्या होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

बरसात के मौसम में वातावरण में काफी नमी होती है। यह नमी आपके चेहरे के लिए सही नहीं होती। इस वजह से चेहरे पर मुहांसे आदि की समस्या होने का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसके अलावा वातावरण की अत्यधिक नमी की वजह से त्वचा बेजान होने लगती है। ऐसे में आपको त्वचा की अतिरिक्त देखभाल करनी चाहिए। आज हम आपको बताने वाले हैं कि ज्यादा नमी वाले मौसम में आपको अपनी स्किन को की देखभाल कैसे करनी है।

चेहरा रखें साफ – नमी के मौसम में चेहरे पर अधिक तेल का उत्पादन होता है और पसीना भी अधिक निकलता है जिसके कारण त्वचा पर पिंपल्स हो सकते हैं। इसलिए दिन में तीन बार चेहरे को अच्छे क्लीनजर से धोएं। क्लीनजर के इस्तेमाल के पहले चेहरे को पानी से धोएं।

टोनर रखें साथ – टोनर चेहरे को हाइड्रेट रखने में मदद करता है। अगर आप कहीं भी बाहर जा रहे हैं तो अपने साथ टोनर जरुर रखें। दिन में कई बार टोनर को चेहरे पर छिड़के। इससे आपकी त्वचा तरोताजा रहेगी।

मॉइश्चराइजर – नमी के मौसम में त्वचा तैलीय दिखती है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप मॉइश्चराइजर ना लगाएं। नमी वाले मौसम में भी त्वचा को मॉइश्चर की जरुरत होती है। इसके लिए ऑयल फ्री और लाइट मॉइश्चराजर का इस्तेमाल करें।

स्क्रब करें – नमी वाले मौसम में त्वचा को एक्सफोलिएट करने से आपकी त्वचा तैलीय नहीं रहती। इसलिए चेहरे और शरीर की त्वचा पर स्क्रब करें। एक सप्ताह में दो बार स्क्रब करें। इससे स्किन पोर्स से गंदगी को साफ करने में मदद मिलेगी।

मेकअप रखें हल्का – नमी के मौसम में अधिक मेकअप त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके कारण त्वचा पर मुंहासें और ब्रेकआउट्स की समस्या हो सकती है। इसलिए इस दौरान या तो मेकअप को ना कहें, या हल्का मेकअप करें। पाउडर बेस्ड प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें।