ताज़ा खबर
 

वैसलीन लगाने से काले हो जाते हैं होंठ? यहां जानें जवाब

वैसलीन पेट्रोलियम जैली को लेकर एक सवाल अक्सर पूछा जाता रहा है कि क्या इसके इस्तेमाल से होठों का रंग गाढ़ा होता जाता है?

प्रतीकात्मक चित्र

सर्दियों में होठों का फटना एक आम समस्या है। फटे और सूखे होंठ दर्द का भी कारण बनते हैं। ऐसे में सूखे होठों को नरम बनाने के लिए ज्यादातर लोग वैसलीन जैली का इस्तेमाल करते हैं। होठों की नमी को बरकरार रखने के लिए वैसलीन जैली सबसे सरल और कामयाब नुस्खा है। सर्दियों में अक्सर लोग अपने साथ वैसलीन की एक डिबिया रखते हैं और होठों के सूखते ही उसका इस्तेमाल करते हैं। वैसलीन पेट्रोलियम जैली को लेकर एक सवाल अक्सर पूछा जाता रहा है कि क्या इसके इस्तेमाल से होठों का रंग गाढ़ा होता जाता है? क्या वैसलीन होठों के कालेपन के लिए जिम्मेदार है? आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देने की कोशिश करेंगे।

वैसलीन होठों को काला करता है?

वैसलीन होठों के रंग को गाढ़ा करता है या नहीं इस सवाल को लेकर अलग-अलग जवाब सामने आते हैं। कुछ लोगों का कहना है कि वैसलीन लगाने के बाद होठों का रंग गाढ़ा तो होता है लेकिन उसके पीछे वैसलीन नहीं बल्कि वैसलून लगाते समय होठों को रगड़ना मुख्य वजह होती है। हम सभी को पता है कि जब हम अपनी त्वचा पर मिनरल ऑयल का इस्तेमाल करते हैं तो यह हमारी त्वचा के रंग को गाढ़ा बनाती है। कई अध्ययनों में इसका प्रमुख कारण मिनरल ऑयल का सूरज की पराबैगनी किरणों को आकर्षित करना बताया गया है।

अमेरिकन अकादमी ऑफ डर्मेटोलॉजी की एक पत्रिका में बताया गया है कि मिनरल ऑयल और सभी ल्यूब्रिकेंट्स जिसमें वैसलीन भी शामिल है, सोरायसिस के इलाज में पराबैगनी किरणों के प्रभाव को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। इस ट्रीटमेंट में मिनरल ऑयल खुरदुरी त्वचा को स्मूद बनाकर पराबैगनी किरणों के उत्सर्जन को कम करने की कोशिश करता है। इसका मतलब यह है कि इस ट्रीटमेंट में त्वचा ज्यादा से ज्यादा अल्ट्रावायलेट किरणें अवशोषित करती है। अब यह तो सभी को पता है कि पराबैगनी किरणें त्वचा के भूरेपन, गाढ़ेपन और कालेपन का कारण तो होती ही हैं। ऐसे में स्किन का काला होते जाना सामान्य है। इसी तरह अगर आप होठों पर वैसलीन पैट्रोलियम जैली लगाकर धूप में जाते हैं तो इससे आपके होठों की त्वचा जरूर काली जाती है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App