ताज़ा खबर
 

आचार्य बालकृष्ण के नुस्खेः हमेशा युवा दिखने के लिए एंटी-एजिंग क्रीम नहीं आंवला का इस्तेमाल है असरदार

आयुर्वेद के लोकप्रिय आचार्य बालकृष्ण बताते हैं कि आंवले का नियमित सेवन करने से बुढ़ापा देर से आता है और आप लंबे समय तक जवान रहते हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है

आंवला हर मर्ज की दवा कही जाती है। प्राचीन काल से ही अनेक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के निवारण के लिए आंवले का इस्तेमाल किया जाता रहा है। डायबिटीज, अल्सर, पाइल्स, दमा, ब्रोंकाइटिस आदि बीमारियों में आंवला बेहद फायदेमंद फूड होता है। आयुर्वेद में इसके बहुत से गुणों के विषय में चर्चा है। आयुर्वेद के लोकप्रिय आचार्य बालकृष्ण बताते हैं कि आंवले का नियमित सेवन करने से बुढ़ापा देर से आता है और आप लंबे समय तक जवान रहते हैं। यही नहीं, आंवले का सेवन पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के साथ आंखों की रोशनी और स्मरण शक्ति को भी बढ़ाने का काम करता है। त्वचा और बालों को पोषण देने में भी यह बेहद अरसदार है।

हमेशा युवापन रहे बरकरार – बालकृष्ण के मुताबिक आंवला के चूर्ण की 3-6 ग्राम मात्रा लेकर 2 चम्मच शहद और एक चम्मच घी के साथ दिन में दो बार चाटें। इससे बुढ़ापा जाता है और आप हमेशा जवान दिखते हैं।

बालों के लिए आंवला – आंवला, रीठा और शिकाकाई का काथ बनाकर सिर धोने से बाल लंबे, घने और काले होते हैं। इसके अलावा 30 ग्राम आंवला, 10 ग्राम बहेड़ा, 50 ग्राम आम के गुठली की गिरि और 10 ग्राम लौह-चूर्ण को रातभर कड़ाही में भिगोकर रखें और सुबह बालों पर इसका लेप लगाएं। इससे सफेद बाल कुछ ही दिनों में काले हो जाते हैं।

नेत्र-रोगों के लिए – आंखों से संबंधित किसी भी तरह के रोगों से निपटने के लिए आंवले का इस्तेमाल बेहद असरदार होता है। इसके लिए 20-50 ग्राम आंवलों को जौकुट कर दो घंटे तक आधा किलो पानी में ओटाकर उसे छान लें और इस जल को दिन में तीन बार आंख में डालें।

श्वेत प्रदर या ल्यूकोरिया में भी फायदेमंद – आंवले के 20 मिलीलीटर रस में 5 ग्राम शक्कर और 10 ग्राम शहद मिलाकर पीने से योनिदाह में आराम मिलता है। इसके अलावा आंवले के बीज को पीसकर उसे 3-6 ग्राम जल में मिलाकर छान लें। अब इस पानी में शहद और मिश्री मिलाकर पिएं। इससे श्वेत प्रदर में बहुत लाभ मिलता है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App