ताज़ा खबर
 

Teacher’s Day 2020 Speech, Essay: टीचर्स डे पर लिखना है निबंध या भाषण तो यहां से ले सकते हैं मदद

Shikshak Diwas, Teachers Day 2020 Speech, Essay, Nibandh in Hindi: शिक्षक हमें सही और गलत का फर्क बता कर हमारे चरित्र का निर्माण करते हैं। शिक्षक सही मार्ग दर्शन के साथ हमारे भविष्य को उज्जवल बनाते हैं।

Teachers Day Speech इस दिन बच्चों से लेकर बड़े तक अपने शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं।

Teacher’s Day Speech, Essay: देश के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस के मौके पर हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। हर इंसान के जीवन में शिक्षक की भूमिका बेहद अहम होती है। इस दिन बच्चों से लेकर बड़े तक अपने शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं। स्कूल और कॉलेजों में इस दिन विशेष कार्यक्रमों का आयोजन होता है। शिक्षक दिवस का महत्व बताते हुए बच्चे रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत करते हैं। साथ ही, इस दिन भाषण और निबंध प्रतियोगिताएं भी करवाई जाती हैं। इस कोरोना काल में ऑनलाइन क्लासेज की मांग बढ़ी है। ऐसे में कई जगह ये सभी आयोजन वर्चुअली ही करवाए जाएंगे। आइए जानते हैं भाषण और निबंध के कुछ उदाहरण –

Happy Teacher’s Day (शिक्षक दिवस) 2020 Quotes: Read here

Speech 1: शिक्षक दिवस की आप सभी को हार्दिक बधाई। आदरणीय शिक्षकों को मेरा आभार भरा नमस्कार। शिक्षक हमारे जीवन से स्तंभ होते हैं। वह अपना कीमती समय देकर हमारे जीवन को संवारते हैं और आगे बढ़ाते हैं। शिक्षक ना सिर्फ हमें शिक्षा देते हैं बल्कि अच्छी-अच्छी चीजें भी सिखाते हैं। जीवन जीने को लेकर भी कई अच्छी बातें छात्रों से साझा करते हैं।

इस दिन देश के पहले उप राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस होता है जो एक शिक्षक थे। सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान दार्शनिक थे। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 27 बार नोबेल पुरस्कार के लिए नामित किया गया था। 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया। उन्होंने अपने छात्रों से जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने की इच्छा जताई थी। इसलिए इस दिन को भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Speech 2: हमारे माता – पिता हमें जन्म देते हैं। शिक्षक हमें सही और गलत का फर्क बता कर हमारे चरित्र का निर्माण करते हैं। शिक्षक सही मार्ग दर्शन के साथ हमारे भविष्य को उज्जवल बनाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि शिक्षकों का स्थान हमारे माता – पिता से भी ऊपर होता है। शिक्षा के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

जिस प्रकार हमारे शरीर को भोजन की आवश्यकता होती है उसी प्रकार हमें जीवन में आगे बढ़ने और ऊंचाइयों को हासिल करने के लिए शिक्षा की जरुरत होती है। सभी छात्रों को निस्वार्थ भाव से एक शिक्षक ही शिक्षा प्रदान कर सकता है। शिक्षक हमारे अंदर की बुराइयों को दूर कर हमें एक बेहतर इंसान बनाते हैं। हमारे जीवन में शिक्षकों के इस योगदान के लिए हमें अपने शिक्षकों का हमेशा आदर और सम्मान करना चाहिए।

Next Stories
1 तारक मेहता के ‘मास्टर भिड़े’ इंजीनियरिंग छोड़ बने एक्टर, जानिये- हर एपिसोड की कितनी लेते हैं फीस
2 ‘पता नहीं क्या सुनाया, लेकिन लोग बहुत खुश थे’- जब कुमार विश्वास के साथ विदेश में हुआ था मजेदार वाकया
3 Teacher Day 2020: जानिये- शिक्षक दिवस का इतिहास, महत्व और इससे जुड़ी रोचक बातें
ये पढ़ा क्या?
X