ताज़ा खबर
 

परामर्श: खुद में खोजें ज्ञान और विश्वास का खजाना

दोस्तों के बीच खुद को कमतर समझते हैं, अपनी बात साबित करने के लिए बेहतर तर्क नहीं दे पाते हैं, आत्मविश्वास की कमी महसूस करते हैं?

Author June 7, 2018 05:31 am
हमेशा कुछ नया करने का जज्बा रखिए। जो काम किए जा चुके हैं उन कामों पर नए तरीके से सोचें। काम अच्छा होगा या बुरा इस परिणाम के बारे में न सोचें।

दोस्तों के बीच खुद को कमतर समझते हैं, अपनी बात साबित करने के लिए बेहतर तर्क नहीं दे पाते हैं, आत्मविश्वास की कमी महसूस करते हैं? अगर आप भी इन परेशानियों से जद्दोजहद कर रहे हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है। यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे तरीके जिनसे आपका खुद पर भरोसा मजबूत होगा। नीचे दिए गए सात तरीकों को अपनाकर आप दुनिया को दिखा सकते हैं अपना दम।

कुछ नया करें – हमेशा कुछ नया करने का जज्बा रखिए। जो काम किए जा चुके हैं उन कामों पर नए तरीके से सोचें। काम अच्छा होगा या बुरा इस परिणाम के बारे में न सोचें। लेकिन कुछ नया करने की हिम्मत हमेशा रखें। ये हिम्मत, रचनात्मकता, नए तरीके ही आपकी यूएसपी बनेंगे।

रोज सोचें 10 नए आइडिया – खुद को बेहतर बनाने का सबसे बेहतर तरीका है खुद के साथ जद्दोजहद। गरीबी कैसे कम हो, भ्रष्टाचार कैसे खत्म हो जैसे सामाजिक सवालों से अगर आप रोज जूझते हैं तो खुद के दिमाग को पोषित कर रहे होते हैं। जब दिमाग नियमित तौर पर अलग-अलग सवालों पर सोचेगा तो उसका बहुमुखी विकास होगा।

खुद को प्रेरित करें – ऐसे विषयों को चुनें जो आपको खुशी देते हों। इस तरह के विषयों में आप दिलचस्पी दिखाएं। उन पर ज्यादा से ज्यादा ज्ञान प्राप्त करने का प्रयास करें। ऐसे विषयों से आपका दिमाग पोषित होता रहेगा, तो आप खुद में भी ज्ञान का खजाना खोज पाएंगे।

बोलना जरूरी है – जब भी कहीं कोई चर्चा होती है तो आप उसमें अपनी भागीदारी दें। किसी विषय पर आप जितना बोलेंगे उस विषय की समझ उतनी ही अधिक बढ़ती जाएगी। जब भी बोलें धाराप्रवाह और प्रभावी बोलें।

अपने से होशियार लोगों से करें बात – अपने दिमाग को सही दिशा में पोषित करने के लिए हमेशा ऐसे लोगों के साथ बात करें जो आपसे ज्यादा तेज हों। ऐसे लोगों के बीच आपको कुछ नया सीखने को मिलेगा।

आप जो जानते हैं, उस पर केंद्रित रहें – अगर आप किसी इंटरव्यू में गए हैं या दोस्तों के बीच चर्चा में हैं तो उसी विषय पर बात करें जिसे आप बेहतर तरीके से जानते हैं। इससे सभा में आप खुद का महत्व बना पाएंगे।

डायरी लिखें – आज तक जो भी सफल व्यक्ति रहे हैं उनमें लिखने की आदत को सामान्य माना गया है। लिखने से विचारों को एक स्थान मिल जाता है सहेजने का। आप चाहें तो डायरी, ब्लॉग, कविता, कहानी किसी भी विधा में अपने विचारों को प्रतिदिन लिखेंगे तो पाएंगे कि आपका शब्दकोश बढ़ रहा है। इससे आपको किसी सभा या चर्चा में बात करने में दिक्कत नहीं आएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App