ताज़ा खबर
 

दाना- पानीः कच्चे केले के व्यंजन

पका हुआ केला तो आमतौर पर सभी को पसंद है, पर कच्चा केला भी कम उपयोगी और गुणकारी नहीं होता। कच्चे केले की सब्जी, कोफ्ता, चिप्स और उसके छिलके की सब्जी बहुत लोकप्रिय है।

Author May 6, 2018 1:34 AM

मानस मनोहर

पका हुआ केला तो आमतौर पर सभी को पसंद है, पर कच्चा केला भी कम उपयोगी और गुणकारी नहीं होता। कच्चे केले की सब्जी, कोफ्ता, चिप्स और उसके छिलके की सब्जी बहुत लोकप्रिय है।
सेहत की दृष्टि से देखें तो कच्चा केला पोटैशियम का खजाना होता है, जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता और शरीर में दिन भर स्फूर्ति बनाए रखता है। इसमें मौजूद विटामिन बी6, विटामिन सी कोशिकाओं को पोषण देने का काम करते हैं। कच्चे केले में स्टार्च और एंटी-आॅक्सीडेंट्स होते हैं। इस तरह कच्चा केला वजन घटाने में मददगार होता है। इसमें भरपूर रेशे पाए जाते हैं, जो अनावश्यक चर्बी और अशुद्धियों को दूर करने में मददगार होते हैं।
इसके अलावा यह कब्ज की समस्या में राहत देता, भूख को शांत करने और पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मदद करता है। मधुमेह यानी डाइबिटीज को नियंत्रित करता है। कच्चा केला कई तरह के कैंसर से बचाव में भी सहायक है। इसमें मौजूद कैल्शियम हड््िडयों को मजबूत बनाने में सहायक है।
तो फिर क्यों न खाएं कच्चा केला!

कोफ्ते

कच्चे केले को ठीक से साफ कर लें और फिर चाकू की मदद से उसका छिलका उतार लें। इस छिलके को फेंके नहीं, यह बहुत गुणकारी होता है और इसकी सब्जी बेहद लजीज बनती है। अब केले के गूदे को थोड़े पानी में उबाल लें। जब वह नरम हो जाए, तो उसे मसल लें। फिर उसमें मूंगफली के कुछ दाने कूट कर डालें। ऊपर से नमक, हरी मिर्चें, हरा धनिया, अदरक और चाहें तो एक छोटा प्याज बारीक काट कर डालें। अब थोड़ा-सा लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर और आधा चम्मच गरम मसाला डाल कर सब कुछ को ठीक से मिला लें, जैसे परांठे के लिए आलू की पिट्ठी तैयार करते हैं। इस पिट्ठी से कोफ्ते लायक गोलियां तैयार करें और उन्हें बेसन या फिर ब्रेड क्रम्स में लपेट कर अलग प्लेट में रखते जाएं। जब सारे कोफ्ते तैयार हो जाएं, तो उन्हें कुछ देर के लिए फ्रिज में कड़ा होने के लिए रख दें। इस बीच में रसा यानी ग्रेवी के लिए प्याज, लहसुन और टमाटर पीस कर तैयार कर लें। चाहें तो चूल्हे पर एक तरफ कड़ाही में ग्रेवी तैयार करना शुरू कर दें और दूसरी तरफ एक कड़ाही में भरपूर तेल गरम करें। तेल गरम हो जाए तो उसमें कोफ्तों को डाल कर सुनहरा होने तक तल लें। ग्रेवी तैयार हो जाए, तो उसमें कोफ्तों को डालें और ऊपर से धनिया पत्ता, हरी मिर्च और अदरक के लच्छों से सजा कर गरमा-गरम परोसें। इसे चावल, रोटी, परांठा किसी के भी साथ खा सकते हैं।

छिलकों की सब्जी

केले के जो छिलके आपने उतार कर अलग रखे थे, उन्हें बारीक-बारीक काट लें। इसकी सब्जी बनाने के दो तरीके हैं। अगर आप मसालेदार चाहते हैं, तो इसमें प्याज-लहसुन का उपयोग कर सकते हैं। अगर इसे भुजिया की तरह खाना पसंद करते हैं, तो सामान्य तरीके से भून सकते हैं। इसके अलावा इसे कच्चे नारियल के चूरे के साथ भी पका सकते हैं, इसका स्वाद निराला होता है।
कच्चे केले के छिलके की सब्जी बनाने के लिए एक कड़ाही में एक-दो चम्मच सरसों का तेल गरम करें। उसमें मेथी दाना, जीरा, राई और साबुत धनिया का तड़का लगाएं। तड़का तैयार हो जाए तो अगर आप प्याज-लहसुन के साथ बनाना चाहते हैं तो पहले उसका छौंक लगाएं। जब प्याज आधा पक जाए तो बारीक कटे छिलके को छौंकें। अगर नारियल के साथ बनाना चाहते हैं तो बारीक कटे केले के छिलकों को पहले छौंकें। आंच धीमी रखें। कड़ाही ढक दें। जब सब्जी आधा पक जाए, तो उसमें नमक, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर और थोड़ा-सा गरम मसाला डाल कर ठीक से मिला लें। फिर कच्चे नारियल का चूरा मिलाएं और कड़ाही को फिर से ढक दें। जब सब्जी पूरी तरह पक जाए और उसमें पानी बिल्कुल न रहे तो आंच बंद कर दें। ध्यान रहे कि सब्जी को बिल्कुल गलाएं नहीं। इसे पकाते समय पानी का इस्तेमाल बिल्कुल न करें।
सब्जी तैयार हो जाए तो ऊपर से हरी मिर्च, धनिया पत्ता और अदरक के लच्छे डाल कर सजाएं और गरमा-गरम परोसें। इस सब्जी को चावल-दाल, रोटी, परांठा किसी के भी साथ खाया जा सकता है।

चिप्स

केले के चिप्स बहुत स्वादिष्ट होते हैं। ये बच्चों को बहुत पसंद आते हैं। इसके चिप्स बना कर घर में रख सकते हैं। चाय के साथ या वैसे भी इसे खाए, स्वाद और सेहत के लिए अच्छा है।
कच्चे केले के चिप्स बनाना बहुत आसान है। छिलका उतरे केलों को चाकू या फिर चिप्स कटर से गोल-गोल चिप्स की तरह काट ले। एक कड़ाही में तेल गरम करें और इन कटे हुए चिप्स को तेज आंच पर तल लें। कड़ाही निकालने के बाद जब इन्हें प्लेट में रखें तभी ऊपर से वमक बुरक दें। चिप्स गरम होंगे तो नमक को अपने में समो लेंगे। चिप्स तैयार हैं। ल्ल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App